मूंगफली या कच्चा बादाम जिसे सुपरफूड जाने खाने का सही तरीका

मूंगफली या कच्चा बादाम जिसे सुपरफूड की संज्ञा दी गई है, वह हमारी सेहत के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। जी हां, जिस मूंगफली को हम पोहे से लेकर चटनी और चाट में इस्तेमाल करते हैं वह मूंगफली हमारी सेहत के लिए खतरा साबित हो सकती है। इसमें अधिक मात्रा में फैट और ऑयल पाया जाता है जो हमें नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में हमें कैसे मूंगफली का इस्तेमाल करना चाहिए, कितनी मात्रा में करना चाहिए और इससे क्या नुकसान (Disadvantages of peanuts) होते हैं आइए हम आपको बताते हैं…

वजन बढ़ना
मूंगफली में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है और इससे वजन बढ़ सकता है। अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो अधिक मूंगफली का सेवन हानिकारक हो सकता है।

एलर्जी
कई लोगों को मूंगफली खाने से एलर्जी जैसे- नाक बहना, पित्ती, खुजली, सूजन या लालिमा, गले और मुंह में झुनझुनी और पाचन संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं।

सोडियम की मात्रा बढ़ाएं
कई लोगों को नमकीन मूंगफली खाना बहुत पसंद होता है। लेकिन ये नमकीन मूंगफली शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ा सकती है। ब्लड प्रेशर और हार्ट हेल्थ को बनाए रखने के लिए हमें सोडियम की मात्रा कंट्रोल होना बहुत जरूरी है। बहुत अधिक नमकीन मूंगफली खाने से सोडियम आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

लिवर डैमेज करें
मूंगफली का अधिक मात्रा में सेवन करने से अफलाटॉक्सिन की मात्रा बढ़ जाती है। ये एक हानिकारक पदार्थ है जो हमारे लिवर को काफी नुकसान पहुंचाता है।  

ओमेगा फैटी एसिड असंतुलन
ओमेगा 6 एक आवश्यक पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड है जो मुख्य रूप से आपको एनर्जी देने का काम करता है। ओमेगा 6 और 3 का संयुक्त और संतुलित सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है लेकिन मूंगफली में ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी होती है और इसका सेवन सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

फैट से भरपूर
मूंगफली का बहुत ज्यादा सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है क्योंकि इनमें सैचुरेटेड फैट की मात्रा अधिक होती है। जिससे स्ट्रोक, दिल का दौरा, पाचन समस्याएं, हाई ब्लड प्रेशर, धमनियों का बंद होना आदि समस्याएं हो सकती हैं।

Related Articles

Back to top button