आपके लीवर को खराब करती है ये रोजाना पी जाने वाली ड्रिंक्स

लिवर शरीर का दूसरा सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण अंग है। दिल, हड्डी, किडनी और फेफड़ों की तरह इस अंग के स्वास्थ्य का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। दरअसल यह शरीर में एक ऐसा अंग है, जिसका काम डिटॉक्सिफिकेशन से लेकर पोषक तत्वों का भंडारण और रक्त को छानना है। एक्सपर्ट मानते हैं कि लिवर शरीर को स्वस्थ बनाने के लिए 500 तरह के काम करता है।

शरीर में लीवर का क्या काम है? आप जो भी खाते या पीते हैं, चाहे वह भोजन, शराब, दवा या गंदे पदार्थ हो, लीवर उन्हें फिल्टर कर देता है। दरअसल यह अंग बहुत चालाकी से काम करता है। यह जानता है कि कब कब मूत्र या मल के माध्यम से शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालना है, पोषक तत्वों को कब संग्रहित करना है और कब उन्हें रक्त में वापस छोड़ना है।

लिवर खराब होने के नुकसान क्या हैं? अगर लिवर खराब हो गया, तो आपका शरीर कमजोर हो सकता है और आपको उल्टी होना, भूख नहीं लगना, हमेशा थकान महसूस होना, दस्त या पीलिया होना, पेट में पानी भर जाना या खुजली होना जैसे लीवर खराब होने के लक्षण महसूस हो सकते हैं। शराब लीवर की सबसे बड़ी दुश्मन हैं लेकिन रोजाना पिए जाने वाले कुछ पेय पदार्थ भी लिवर को धीरे-धीरे डैमेज कर सकते हैं।

सोडा और कोल्ड ड्रिंक्स
खाने में बहुत अधिक चीनी शामिल करने से लीवर में फैट जमा हो सकता है, जिससे लीवर का काम करना मुश्किल हो सकता है। नियमित सोडा पीने से लीवर से जुड़े कई रोग हो सकते हैं। अध्ययन से पता चलता है कि नियमित रूप से मीठे पेय पदार्थ पीने से फैटी लीवर का खतरा है, विशेष रूप से अधिक वजन वाले और मोटे व्यक्तियों में।

एनर्जी ड्रिंक
एनर्जी ड्रिंक्स में ऐसे तत्व होते हैं जो आपको भरपूर ऊर्जा देने का वादा करते हैं। लेकिन इन ड्रिंक्स का सेवन करने से लीवर की गंभीर बीमारी हो सकती है। कम कैफीन से लीवर को नुकसान होने की संभावना नहीं है लेकिन कैफीन का अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है, तो कैफीन, चीनी और अन्य चीजों की मात्रा लीवर को नुकसान देती हैं।

मलाई वाला दूध पीना
जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, बहुत अधिक संतृप्त वसा का सेवन आपके लीवर को कोई फायदा नहीं कर रहा है। संतृप्त वसा का अधिक सेवन आपके लीवर में वसा जमा होने को बढ़ावा देता है। एक कप पूरे दूध में 4.5 ग्राम संतृप्त वसा होता है, जो एक वयस्क की दैनिक जरूरतों का लगभग 20% है।

बियर और वाइन
बियर और वाइन पीने से भी आपके लीवर पर असर पड़ता है क्योंकि यह चीजें ट्राइग्लिसराइड्स लेवल को बढ़ाती है। यह खून में एक प्रकार का फैट होता है। इनमें कैलोरी ज्यादा होती है। शरीर में मौजूद कोई भी कैलोरी जिसे आप ऊर्जा के लिए तुरंत उपयोग नहीं करते हैं, ट्राइग्लिसराइड्स में परिवर्तित हो जाती है। लीवर में ट्राइग्लिसराइड्स जमा होने से लीवर के रोग का कारण बन सकता है।

ज्यादा शराब पीना
वैसे तो लीवर में शराब को तोड़ने की क्षमता होती है लेकिन अगर आप इस अंग के मुकाबले ज्यादा शराब पी रहे हैं, तो यह धीरे-धीरे नुकसान पहुंचा सकता है। इससे लीवर में फैट जमा हो सकता है. आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि शराब हर तरह से शरीर के लिए नुकसानदायक है।

Related Articles

Back to top button