चेहरे की चमक को बढ़ाने का काम आता है उत्तराखंड के पहाड़ों का ये फूल

आज कल खूबसूरती खराब करने के कई तरीके हैं, लेकिन निखारने के बहुत कम। जब भी कभी ऐसा लगता है कि त्वचा बेजान और डल दिख रहा है तो हम कुछ ऐसा तरीका आजमाना चाहते हैं, जो मिनटों में चेहरे का ग्लो बढ़ा दें। नतीजा हम नेचुरल तरीका आजमाने के बजाए केमिकल युक्त चीजों का प्रयोग करते हैं। इसके अलावा कई ऐसे ब्यूटी ट्रीटमेंट  भी हैं, जिसका सहारा महिलाएं लेती रहती हैं।

हालांकि, आपको समझना होगा कि नेचुरल ब्यूटी के आगे कुछ नहीं। अगर आप इसे मेंटेन रखना चाहते हैं तो नेचुरल चीजों का इस्तेमाल करना जरूरी है। आपने देखा होगा कि पहाड़ी औरतों के चेहरे पर हमेशा नेचुरल ग्लो देखने को मिलता है। ऐसा इसलिए क्योंकि उनका खानपान से लेकर त्वचा का ख्याल रखने का तरीका भी नेचुरल चीजों से जुड़ा होता है। आसपास मिलने वाली चीजों को ही वो अधिक इस्तेमाल करना पसंद करते हैं।

वहीं पहाड़ी फल और फूल औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। ऐसे में स्थानीय लोग घरेलू उपचार के तौर पर इन्हीं चीजों का इस्तेमाल करते हैं। फूलों की बात करें तो उत्तराखंड में पाया जाने वाले बुरांश के फूल त्वचा के लिए बेहद लाभकारी होता है। हिमालय में बसंत के दौरान खिलने वाला ये फूल कई सारी लाभकारी गुणों से भरपूर है। कई महिलाएं त्वचा का ख्याल रखने के लिए इसका इस्तेमाल करती है।

चेहरे की चमक बढ़ाता है ये फूल
बुरांश के फूलों का उपयोग कई तरह से किया जाता है। चाय, चटनी या फिर अन्य चीजों को बनाने में किया जाता है। गहरे लाल रंग का ये फूल एंथोसायनिन नामक कंपाउंड से भरपूर होता है। एंथोसायनिन के गुण होने की वजह से इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी उच्च मात्रा में होते हैं, जो त्वचा में चमक लाने में मदद करता है। लोग चटनी, शरबत या फिर चाय के रूप में इसका सेवन करते हैं। जिस तरह गुड़हल के फूल का चाय बनाते हैं उसी तरह बुरांश के फूलों से बनाया जा सकता है।

गर्मियों में त्वचा के जलन को करता है शांत
गर्मियों में कई लोग हैं, जिन्हें त्वचा में जलन की समस्या होती है। हालांकि, पहाड़ी लोग इस समस्या से निपटने के लिए रोजाना बुरांश के फूलों से बना शरबत पीते हैं। इसके लिए फूलों की पंखुड़ियों को अलग-अलग कर लेते हैं और फिर उसका शरबत बनाते हैं। इसके सेवन से त्वचा में होने वाली जलन को शांत किया जा सकता है। इसके अलावा ये सन डैमेज से भी बचाता है।

एंटी एजिंग के लिए है बेहद लाभकारी
बुरांश के फूलों को सुखाकर पाउडर भी बनाया जाता है, जिसे अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल किया जाता है। इसका लेप या फिर फेस पैक के साथ इसे यूज किया जा सकता है। स्किन डैमेज को रोकने के लिए बेहद प्रभावी फूल है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी,एंटी-बैक्टीरियल गुण हैं, जो स्किन एलर्जी से भी बचाने में मदद करता है। एंटी एजिंग के लिए लाभकारी होने के साथ-साथ यह झुर्रियां और फाइन लाइन्स को भी दूर करने में मदद करता है।

ध्यान रखें ये जरूरी बात
औषधीय गुणों से भरपूर बुरांश के फूल का सेवन या फिर लगाने से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। दरअसल, यह एक पहाड़ी फूल है, ऐसे में कितनी मात्रा में और कैसे इस्तेमाल किया जाना बेहतर है, इस बारे में आपको जानकारी जरूर लेनी चाहिए। हालांकि, पहाड़ी लोग इस फूल के आदी है, ऐसे में उन्हें इस बारे में पूरी जानकारी होती, लेकिन आपको एक्सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए।

Related Articles

Back to top button