ग्राम पंचायत विकास योजना एक्शन रिसर्च प्रोजेक्ट का राष्ट्रव्यापी शुभारंभ

ग्वालियर
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की जयंती पर ग्राम पंचायत विकास योजना एक्शन रिसर्च प्रोजेक्ट का राष्ट्रव्यापी शुभारंभ ग्वालियर से हुआ।  प्रदेश की नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह के मुख्य आतिथ्य में ग्वालियर व्यापार मेला परिसर स्थित फैसिलिटेशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में यह प्रोजेक्ट लाँच किया गया। श्रीमती माया सिंह ने इस अवसर पर कहा कि इस प्रोजेक्ट के माध्यम से सुनियोजित तरीके से ग्राम पंचायत विकास योजना बनेंगीं और गाँवों का तेजी से आर्थिक एवं सामाजिक विकास होगा।

केन्द्रीय पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर की पहल पर राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज संस्थान हैदराबाद द्वारा "सबकी योजना-सबका विकास" की अवधारणा और सतत, टिकाऊ एवं समग्र विकास के उद्देश्य को लेकर यह रिसर्च प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। ग्राम पंचायत विकास योजना एक्शन रिसर्च प्रोजेक्ट को फिलहाल देश के 19  राज्यों के 86  जिलों के अंतर्गत 98 क्लस्टर में समाहित 467  ग्राम पंचायतों में लागू किया गया है, जिसमें ग्वालियर जिले की मुरार जनपद पंचायत क्षेत्र की 20  ग्राम पंचायतें इस  शामिल की गई हैं। साथ ही मध्यप्रदेश के ग्वालियर, विदिशा, सिंगरोली, राजगढ़, गुना, दमोह, छतरपुर, बड़वानी व जबलपुर जिले की चुनिंदा ग्राम पंचायतें भी इस प्रोजेक्ट में शामिल हैं। ग्राम पंचायत विकास योजना रिसर्च प्रोजेक्ट में मिशन अंत्योदय में पूर्व से शामिल ग्राम पंचायतों को 30  हजार की आबादी के क्लस्टर के मान से चिन्हित किया गया है। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से मानव विकास और समाज के निर्धनतम व्यक्ति का जीवन स्तर ऊँचा उठाने के लिये विशेष प्रयास होंगे। क्षमता निर्माण, प्रशासनिक सुधार और जनभागीदारी से समग्र विकास इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य है। आरंभ में अतिथियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर एवं माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीणों की राय लेकर और उपलब्ध संसाधनों का सही ढंग से उपयोग कर इस प्रोजेक्ट के तहत ग्राम पंचायत विकास योजना बनाई जायेगी। योजना ऐसी होगी, जिससे सबका साथ-सबका विकास की अवधारणा सही मायने में मूर्त रूप लेगी। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद पंचायत राज संस्थाओं के पदाधिकारियों का आहवान किया कि वे इस महात्वाकांक्षी योजना में अपना योगदान देकर राष्ट्रनिर्माण में भागीदार बनें।

महापौर श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा खुशी की बात है कि ग्राम पंचायत विकास योजना रिसर्च प्रोजेक्ट ग्वालियर से पूरे देश में लाँच हो रहा है। सही नियोजन से ही सभी का कल्याण संभव है। इस प्रोजेक्ट के तहत अब हर ग्राम पंचायत के सुनियोजित विकास की योजना तैयार होगी, जिसमें सभी का कल्याण निहित है।

ग्वालियर जिले की चिन्हित 20  ग्राम पंचायतों में ग्राम पंचायत विकास योजना एक्शन रिसर्च प्रोजेक्ट बनाने में दो संस्थायें सहयोग करेंगीं। प्रोजेक्ट के शुभारंभ कार्यक्रम में आर्ट ऑफ लिविंग फाउण्डेशन और फाउण्डेशन फॉर इकोलॉजिकल सिक्योरिटी के साथ एनआईआरडी हैदराबाद के मध्य अलग-अलग एमओयू (मेमोरेण्डम ऑफ अण्डरस्टेंडिंग) अर्थात करारनामे किए गए।

ग्वालियर जिले में स्वच्छपूर्णा अभियान के तहत आयोजित हुई "स्वच्छ पंचायत प्रतियोगिता" में अग्रणी रहीं ग्राम पंचायतों व विभिन्न शासकीय संस्थाओं को इस अवसर पर पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती मनीषा यादव ने की। इस अवसर पर महापौर  विवेक नारायण शेजवलकर, साडा अध्यक्ष  राकेश जादौन, जनपद पंचायत भितरवार की अध्यक्ष श्रीमती अनीता रावत व पूर्व महापौर श्रीमती समीक्षा गुप्ता, कलेक्टर  अशोक कुमार वर्मा, नगर निगम आयुक्त विनोद शर्मा, राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज संस्थान हैदराबाद के एसोसिएट प्रो.  ए के भान्जा व श्री एस एन राव एवं आर्ट ऑफ लिविंग के वरिष्ठ प्रतिनिधि कोमोडोर  एच जी हर्षाराव सहित अन्य सलाहकार व जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवम वर्मा विशेष रूप से उपस्थित थे । 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button