12 करोड़ की लागत से 114 बिस्तर का अस्पताल बनेगा हजीरा अस्पताल, अत्याधुनिक सुविधाएँ रहेंगी उपलब्ध

ग्वालियर
उपनगर ग्वालियर एवं हजीरा क्षेत्र में आर्थिक रूप से कमजोर बहुत परिवार निवास करते हैं। इसलिए इस क्षेत्र में एक अत्याधुनिक अस्पताल की जरूरत महसूस की जा रही थी। हजीरा अस्प्ताल के उन्नयन से इस क्षेत्र के निवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवायें मिल सकेंगीं। यह बात केन्द्रीय पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कही। श्री तोमर के मुख्य आतिथ्य में शुक्रवार को 114 बिस्तरीय अस्पताल का भूमिपूजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के उच्च शिक्षा एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री एवं स्थानीय विधायक जयभान सिंह पवैया ने की। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री रुस्तम सिंह बतौर प्रमुख अतिथि मौजूद थे।

सिविल अस्पताल हजीरा के तीन मंजिला भवन के निर्माण के लिये प्रदेश सरकार ने 12 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की है। अस्पताल भवन में दो वार्ड 11 – 11 बिस्तर के और दो वार्ड 5 व 8 बिस्तर के होंगे। साथ ही पाँच बिस्तर का चिल्ड्रन वार्ड भी बनाया जायेगा। अस्पताल भवन में 8 – 8 बिस्तर के जनरल वार्ड होंगे और इसमें दो सेमी प्राइवेट वार्ड भी बनेंगे। प्रथम तल पर पाँच बैड का आईसीयू व एक बैड का स्पेशल आईसीयू, द्वितीय तल पर 44 बिस्तर की व्यवस्था होगी, जिसमें 12 व 5 बिस्तर के जनरल वार्ड शामिल रहेंगे। इसी तल पर 8 बिस्तर का बच्चों का वार्ड भी बनेगा। इसके अलावा मदर केयर वार्ड और ऑपरेशन थियेटर भी बनाए जायेंगे।

केन्द्रयी मंत्री श्री तोमर ने कहा कि चाहे जितने निजी नर्सिंग होम खुल जाएं, आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए आज भी सरकारी अस्पताल ही सहारा हैं। इसलिये सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार पर विशेष ध्यान दिया है। उन्होंने कहा इसी कड़ी में सरकार ने आयुष्मान भारत योजना शुरू की है, जो स्वास्थ्य के क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी योजना है। इससे देश के 10 करोड़ परिवार और 50 करोड़ की आबादी लाभान्वित होगी। श्री तोमर ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार समग्र एवं संतुलित विकास की परिकल्पना को साकार कर रही है। उन्होंने उपनगर ग्वालियर व हजीरा क्षेत्र में सड़क, सीवर, पेयजल व स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के क्षेत्र में क्षेत्रीय विधायक एवं उच्च शिक्षा मंत्री श्री पवैया द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की। कार्यक्रम में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधिगण तथा कलेक्टर अशोक कुमार वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मृदुल सक्सेना व  सिविल सर्जन डॉ. व्ही के गुप्ता सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button