स्वच्छता के बाद अब अगले जलजीवन मिशन पर इंदौर, बनेगा हर घर पानी वाला दूसरा जिला

भोपाल
देश के स्वच्छतम शहर का तमगा हासिल करने वाला इंदौर अब ग्रामीण अंचलों के हर घर में पानी पहुंचाने में बाजी मारने वाला है। जलजीवन मिशन मेें बुरहानपुर के बाद इंदौर जिला अब हर घर तक पानी पहुंचाने वाला प्रदेश का दूसरा जिला बनने जा रहा है।इस साल दिसंबर तक इस संबंध में सारी कार्यवाही पूरी हो जाएगी।

जल जीवन मिशन में बुरहानपुर प्रदेश का पहला ऐसा जिला बन चुका है जहां के हर घर तक पेयजल पहुंच चुका है। इसी कड़ी में अब इंदौर को प्रदेश का दूसरा ऐसा जिला बनाने की कवायद होंने जा रही है जहां के हर घर में पानी पहुंच जाएगा।  जलजीवन मिशन में प्रदेश में एक करोड़ 19 लाख घरों तक पानी पहुंचाने का लक्ष्य मिला था। इसमें से 42.9 फीसदी याने 51 लाख 51 हजार घरों तक पानी पहुंचाया जा चुका है। बुरहानपुर के बाद अब इंदौर जिले के हर ग्रामीण अंचल में पानी पहुंचाने की कवायद जलजीवन मिशन में होंने जा रही है। इंदौर जिले के ग्रामीण अंचलों में अब केवल पंद्रह हजार घर ऐसे शेष बच गए है जहां अभी तक पेयजल नहीं पहुंच पाया है।

 लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग समूह नलजल योजनाओं और एकल नलजल योजनओं के जरिए इंदौर जिले के हर गांव और गांव के हर घर तक स्वच्छ पेयजल पहुंचाने में लगे हुए है। इंदौर जिले के एक लाख 93 हजार घरों में स्वच्छ पेयजल पहुंचाया जाना है। इनमें से एक लाख 75 हजार घरों तक याने नब्बे फीसदी घरों तक स्वच्छ पेयजल पहुंचाया जा चुका है। अब दस प्रतिशत काम ही बाकी बचा है। यह लक्ष्य भी नवंबर-दिसंबर तक पूरा हो जाएगा।

समूह नलजल योजनाओं के लिए बांधों-जलाशयों की मदद
जलजीवन मिशन के तहत प्रदेश के ग्रामीण अंचलों में स्वच्छ पेयजल पहुंचाने के लिए दो तरह की योजनाओं पर काम किया जा रहा है। क्षेत्र में आने वाले बांधों, जलाशयों, नदियों के जरिए समूह आधारित नलजल योजनााओं पर काम किया जाता है। चार से पांच गांवों के लिए एक योजना बनाई जाती है। टंकियों में पानी स्टोरेज कर पाइपलाईनों के जरिए हर घर पानी पहुंचाया जाता है। वहीं एकल नलजल योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में नलकूप खनन कर उस गांव के सभी घरों तक पानी टंकियों से पाइपलाईनोें के जरिए या सीधे नलकूप से जोड़कर किया जाता है।

इनका कहना
बुरहानपुर के बाद अब इंदौर जिला जलजीवन मिशन में प्रदेश का ऐसा दूसरा जिला बनने जा रहा है जहां के हर घर में स्वच्छ पेयजल पहुंच जाएगा। इस साल दिसंबर तक यह काम पूरा होंने की संभावना है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लक्ष्य पूरा होते ही इंदौर को जलजीवन मिशन में प्रदेश के दूसरे स्थान पर आने की घोषणा करेंगे।
मलय श्रीवास्तव, अपर मुख्य सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button