श्रद्धालय वृद्धाश्रम में बुजुर्गों ने किया श्रद्धापूर्वक योग

धार
आज भारत ही नहीं दुनिया योग दिवस मना रही है ऐसे भी बुजुर्ग भला कैसे व क्यों पीछे रहे। श्रद्धालय वृद्धाश्रम में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का महनीय आयोजन किया गया। ख्याति प्राप्त योगगुरु हास्याचार्य श्री जगदीश शर्मा जी व आयुष विभाग की योगाचार्य सुश्री नेहा वाचपेयी ने आश्रम के प्राकृतिक वातावरण में योग व ध्यान करवाया। इस अवसर पर भोज शोध संस्थान के निदेशक डॉ दीपेंद्र शर्मा ने आयोजन की प्रस्तावना रखते हुए कहा कि योग भारत की दुनिया की दी अनुठी देन है। हमने योग के माध्यम से मानवता को स्वास्थ्य व शांति दी है।

योग मानव मात्र के लिए  बेहतर जीवन का माध्यम है। योग का समापन हास्यक्रिया से हुआ। योग में 85 वर्षीय सुंदर बाई, कला बाई, रुकमा बाई, सुनीता जैन, रानी पंवार, शंकुतला सिसोदिया, स्वामी नर्मदा शंकर जी, प शरद निम्बालकर, पीरू लाल बाबा, बाबूलाल सोलंकी, श्रीकिशन, सत्यनारायण व्होरा सुपर 60 प्लस से रामेश्वर सोनी व भारत पंवार उपस्थित रहे।

आभार प्रदर्शन राजेन्द्र पांडे ने व्यक्त किया। आश्रम प्रबंधन की सफाई व सेवाओं से प्रभावित होकर योगगुरु जगदीश शर्मा जी ने योग दिवस पर पिताजी की स्मृति में समृति भोज करवाया। यह जानकारी मीडिया प्रभारी राकी मक्कड़ ने दी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button