मध्यप्रदेश में बनेगा योग आयोग,CM ने किया योगाभ्‍यास

भोपाल
 मध्यप्रदेश में योग आयोग बनेगा। इसकी पूरी तैयारी कर ली है, जल्द ही कार्य शुरू कर दिए जाएंगे। साथ ही स्कूलों में भी योग की शिक्षा दी जाएगी। इससे बच्चों को लाभ मिलेगा। यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास स्थित पंडाल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान की।

मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि रोज अपने लिए 45 मिनट का समय निकालें। योग का मतलब शरीर का व्यायाम नहीं है, बल्कि मन, बुद्धि, तन आदि का शुद्धिकरण है। प्रणायाम से अपनी सांस पर नियंत्रण कर सकते हैं और शरीर को अपने अनुकूल बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले साल कोविड हुआ, लेकिन योग व प्रणायाम से इसपर नियंत्रण पाया गया। मैं भी कोविड संक्रमित हुआ, लेकिन योग से उस पर जल्द नियंत्रण पाया । मेरा आक्सीजन लेवल भी सामान्य रहा। योग के कारण ही कोविड आया और छूकर चला गया। फेफड़ों तक कोविड पहुंचा ही नहीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब दूसरी लहर आई तो हमने तय किया कि आइसोलेशन वाले मरीजों को आनलाइन योग करवाया जाए। इससे कई लोग घर में स्वस्थ हो गए। इसका फायदा भी मिला। कई कोविड के मरीज काढ़ा से ठीक हुए। उसमें गिलोय आदि कई जड़ी-बूटियां होने के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा रहा और लोग स्वस्थ हैं। उन्होंने कहा कि पांच चीजें करें। कुछ चुने हुए आसन करें। प्रणायाम करें।, स्नान कर ध्यान करें। प्रार्थना जरूर करें। मैं भी एक बार अपना नाता परमात्मा से जोड़ता हूं, क्योंकि वह पावर बैंक है। मैं यही मांगता हूं कि आज के दिन को सफल बनाएं।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों को योग के महत्व और जीवन में सकारात्मक परिणामों के बारे में भी बताया। उन्होंने विद्यार्थियों के साथ योग किया। बता दें कि राजधानी भोपाल में मानसून आने के बाद हुई तेज वर्षा और मौसम के पूर्वांनुमान के अनुसार वर्षा की संभावनाओं को देखते हुए यह निर्णंय लिया गया कि लाल परेड मैदाम में आयोजित योग का कार्यक्रम मुख्यमंत्री निवास स्थित पंडाल में किया जाए।

प्रतिदिन तीन पेड़ लगाता हूं

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं हर रोज तीन पेड़ लगाता हूं। पर्यावरण बचाने के लिए पेड़ लगाना चाहिए और संरक्षण भी करना चाहिए। पेड़ लगाकर ऐसा लगता है कि कुछ अच्छा कार्य किया। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आग्रह किया कि योग कर मन पर नियंत्रण पाएं। चाहे कुछ भी हो जाए, योग जरूर करें। कई बार कई बच्चे हताश और निराश होते हैं। वहीं कुछ बच्चे ऊर्जा से भरे हुए होते हैं। इसका कारण है कि वे योग करते हैं और मन पर नियंत्रण रखते हैं। एक दिन योग नहीं करें, बल्कि हर रोज योग करें। भोजन जो शरीर के लिए लाभकारी है। वही करें। इस मौके पर मैसूर में आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के योग के संबंध में संदेश का प्रसारण भी किया गया। मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों के साथ योग किया।

स्कूल-कालेजों में भी हुए योग कार्यक्रम

इस अवसर पर बीयू सहित स्कूल और कालेजों में भी योग कार्यक्रम हुआ। योग दिवस पर बरकतउल्ला विवि के सत्य भवन कैंपस में सुबह 6 बजे सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसमें विवि के कर्मचारी और अधिकारी परिवार सहित उपस्थित थे। वहीं सरकारी और निजी कालेजों में भी योगाभ्यास किया गया। स्कूलों में शिक्षक और विद्यार्थियों ने योगाभ्यास किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button