शादी का झांसा देकर नाबालिग से दुष्कर्म, पीड़िता ने दिया बच्चे को जन्म

उदयपुर
राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में दुष्कर्म पीड़ित नाबालिग ने शिशु को जन्म दे दिया। किन्तु चार महीने से पुलिस उससे दुष्कर्म करने वाले को नहीं तलाश पाई। जबकि आरोपित एक अन्य युवती को लेकर फरार हो गया था। मामला बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ थाना क्षेत्र का है। पीड़िता ने चार महीने पहले वाकानेर निवासी नितेश रावत के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था। पीड़िता ने बताया कि पिछले दो साल से आरोपित झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। उसके गर्भवती होने का पता चार महीने पहले लगा, जब उसका पेट बाहर निकलने लगा। रविवार रात पीड़िता ने एक स्वस्थ्य शिशु को जन्म दिया। इधर, पुलिस आरोपित की तलाश अभी तक नहीं लगा पाई। पुलिस जांच में केवल इतना पता चला है कि आरोपित किसी दूसरी युवती को लेकर गुजरात भाग निकला है। अभी तक ना तो उस युवती का पता चला और ना ही आरोपित का।  

गौरतलब है कि डूंगरपुर जिले में गत दिनों एक युवक ने पड़ोस में रह रही 82 वर्षीय बुजुर्ग महिला से दुष्कर्म का प्रयास किया। विरोध करने पर आरोपित ने चाकू से गोदकर बुजुर्ग महिला की जान ले ली। शराब के नशे में आरोपित ने बुजुर्ग महिला के प्राइवेट पार्ट में चाकू घोंप दिया। पुलिस ने इस संबंध में हत्या का मामला दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू कर दी है। घटना डूंगरपुर जिले के कुंआ थाना क्षेत्र के बावड़ी गांव की है। घटना शुक्रवार रात की बताई जा रही है, किन्तु पोती वसुंधरा पुत्र राजेंद्र बामणिया ने शनिवार को इसकी सूचना पुलिस को दी। शनिवार रात को परिजनों ने कुंआ थाने में पड़ोसी युवक हुरजी बामणिया के खिलाफ दुष्कर्म के प्रयास तथा हत्या का मामला दर्ज कराया। इधर, थानाधिकारी मोहम्मद रिजवान का कहना है कि आरोपित की तलाश की जा रही है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराए जाने के बाद महिला का शव उनके परिजनों को सौंप दिया है। इधर, मृतका के परिजनों का कहना है कि जब तक आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो जाती, तब तक उसका अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा।

 

Related Articles

Back to top button