जीसैट सीरीज का 11वां सैटेलाइट सफलतापूर्वक लॉन्च

  फ्रेंच गुएना  

यूरोपियन स्पेस एजेंसी (ESA) और एरियन स्पेस (Arianspace) ने भारत के जीसैट-24 (GSAT-24) संचार उपग्रह को 22 जून 2022 को सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में तैनात कर दिया है. इस सैटेलाइट का फायदा टाटा कंपनी को होगा. क्योंकि इसरो की कॉमर्शियल ब्रांच न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) ने जीसैट-24 उपग्रह को टाटा प्ले (TATA Play) को लीज पर दे दिया है.

अब देश में डीटीएच जरूरतों को पूरा करने में यह सैटेलाइट अखिल भारतीय कवरेज मुहैया कराएगा. इस सैटेलाइट और उसके सभी उपकरणों को 18 मई 2022 को मालवाहक विमान ग्लोबमास्टर सी-17 के जरिए कौरोउ भेजा गया था. जीसैट-24 एक 24-केयू बैंड संचार उपग्रह है जिसका वजन 4181 किलोग्राम है. लॉन्चिंग 22 जून 2022 को फ्रांस के फ्रेंच गुएना स्थित कौरोउ स्थित एरियल स्पेस सेंटर से की गई.

जीसैट-24 सैटेलाइट 15 सालों के लिए काम करेगा. यह अपनी सेवाएं डीटीएच सर्विस प्रोवाइडर टाटा प्ले के लिए देगा. इस सैटेलाइट की मदद से पूरे भारत में टाटा प्ले ज्यादा बेहतर और सुचारू रूप से चलने वाली डीटीएच सेवाएं दे पाएगा. एरियनस्पेस से यह 25वां भारतीय सैटेलाइट लॉन्च किया है. एरियनस्पेस ने 11 जीसैट-24 सैटेलाइट्स अब तक लॉन्च किए हैं. इसरो और एरियनस्पेस का संबंध 1981 से लगातार बना हुआ है. इसकी शुरुआ Apple सैटेलाइट की लॉन्चिंग से हुई थी.  

इसरो के जीसैट-24 के अलावा इस रॉकेट से MEASAT नाम का सैटेलाइट भी लॉन्च किया गया है. इसे एयरबस कंपनी ने तैयार किया था. इसका वजन 5648 किलोग्राम है. ये दोनों ही सैटेलाइट धरती के जियोस्टेशनरी ऑर्बिट में चक्कर लगाएंगे. एरियन-5 ईसीए (Arian-5 ECA) रॉकेट 53 मीटर ऊंचा रॉकेट है. इसका व्यास 11.5 मीटर है. यह भारी उपग्रहों को तय कक्षा में पहुंचाने की ताकत रखता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button