असम में भारी बारिश और तूफान से 14 की मौत, 2 दिन में 12000 घर तबाह

असम
असम में भारी बारिश और तूफान ने दर्जनों लोगों को जान ले ली है। असम में रोंगली बिहू को नए साल की शुरुआत के तौर पर मनाया जाता है, लेकिन भारी बारिश और असम ने लोगों को नए साल को खराब कर दिया है। अभी तक भारी बारिश के चलते प्रदेश में 14 लोगों की जान जा चुकी है जबकि 12000 लोगों के घर पिछले 2 दिन में बाऱिश की भेंट चढ़ चुके हैं। प्रदेश के आपदा एवं प्रबंधन विभाग की ओर से कहा गया है कि शुक्रवार को तूफान के पहले दिन 12 जिलों के 21000 लोग इससे प्रभावित हुए थे।

असम आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार शुक्रवार को डिब्रूगढ़ में 4 लोगों की, बारपेटा में 3 लोगों की और गोलपारा में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। गोलपारा में बिजली गिरने से लोगों की मौत हुई थी जबकि डिब्रूगढ़ और बारपेटा में तूफान के चलते लोगों की जान गई थी। शनिवार को बख्शा में 2 लोगों की जान चली गई, जबकि 1 व्यक्ति की डिब्रूगढ़ और 4 की तिनसुकिया जिले में मौत हो गई। सभी लोगों की मौत तूफान की वजह से हुई है। बख्शा और तिनसुकिया में पेड़ गिरने से लोगों की मौत हो गई।

प्रदेश के आपदा एवं प्रबंधन विभाग ने बताया कि शुक्रवार को 7344 घर भारी बारिश की वजह से क्षतिग्रस्त हो गए, जबकि शनिवार को 4768 घट टूट गए। असम के अलावा मेघायल, अरुणाचल प्रदेश, में भी भारी बारिश और तूफान की वजह से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। इस मीहने की शुरुआत से ही भारी बारिश और भूस्खलन के चलते लोगों का जीवन प्रभावित हुआ है।

 

Related Articles

Back to top button