बंगाल में फिर मिले 3 कंगारू, ऑस्ट्रेलिया से भारत कैसे पहुंचा, बनी एक पहेली

कोलकाता
पश्चिम बंगाल के वन अधिकारियों ने कहा कि पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले के विभिन्न हिस्सों में फिर से 3 कंगारू मिले हैं। वन विभाग के अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि एक बच्चा कंगारू मृत पाया गया है। बैकुंठुपुर वन प्रभाग के अंतर्गत बेलाकोबा वन क्षेत्र के रेंजर संजय दत्ता ने कहा कि गश्त करने के दौरान ये कंगारू उन्हें मिले हैं। वन अधिकारी इस बात से हैरान और परेशान हैं कि ऑस्ट्रेलिया और न्यू गिनी रहने वाले ये कंगारू अपने प्राकृतिक आवास से हजारों किलोमीटर दूर पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में कैसे पहुंचे। नेपाली बस्ती में पाया गया था मृत कंगारू नेपाली बस्ती में पाया गया था मृत कंगारू वन अधिकारियों ने बताया कि मृत जॉय यानी बेबी कंगारू शनिवार को उत्तरी बंगाल में सिलीगुड़ी शहर के फरबारी इलाके के पास नेपाली बस्ती में पाया गया था। जबकि अन्य को गुप्त सूचना के बाद कल रात गजलडोबा और डबग्राम-फराबाड़ी इलाकों से बचाया गया है।

 कंगारुओं के शरीर पर थे चोट के निशान कंगारुओं के शरीर पर थे चोट के निशान बैकुंठपुर वन प्रभाग के रेंजर संजय दत्ता ने कहा कि रेस्कयू किए गए कंगारुओं के शरीर पर गंभीर चोटों के निशान मिले हैं। जिसके बाद कंगारुओं को आगे के लिए इलाज के लिए फौरन बंगाल सफारी पार्क लाया गया। फॉरेस्ट रेंजर संजय दत्ता ने कहा कि इस मामले की विशेष अधिकारियों की टीम ने जांच शुरू कर दी है। अधिकारी हैरान हैं इन कंगारुओं को यहां कौन और कैसे लाया अधिकारी हैरान हैं इन कंगारुओं को यहां कौन और कैसे लाया बैकुंठपुर वन प्रभाग के रेंजर संजय दत्ता ने कहा, दोनों ही मामलों में कंगारुओं को ले जाने वाले मौके से फरार हो गए हैं। संजय दत्ता ने कहा कि पूरे मामले की जांच शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा, बचाए जाने के बाद, तीनों कंगारुओं को इलाज के लिए भेजा गया।

 हम हैरान हैं कि इन कंगारुओं को यहां कौन और कैसे लाया। हमें संदेह है कि इन कंगारुओं को नेपाल में तस्करी कर लाया जा रहा था। लेकिन हम तस्करी के पीछे के मकसद की भी जांच कर रहे हैं।' थाईलैंड से तस्करी का है शक थाईलैंड से तस्करी का है शक एक अन्य अधिकारी ने कहा कि कांगारुओ के नाजुक मांस के लिए थाईलैंड से तस्करी कर लाए जाने की संभावना है। वन अधिकारी इस बात से हैरान हैं कि ये कंगारू अपने प्राकृतिक आवास से दूर उत्तरी बंगाल में कैसे पहुंच गए हैं। पश्चिम बंगाल में मार्च में भी मिले थे कंगारू पश्चिम बंगाल में मार्च में भी मिले थे कंगारू पश्चिम बंगाल में मार्च में भी कंगारू पाए गए थे। पश्चिम बंगाल पुलिस ने मार्च में कंगारू को अवैध रूप से ले जाने के आरोप में हैदराबाद के दो लोगों को गिरफ्तार भी किया था। उस वक्त भी अधिकारियों के मन में सवाल उठा था कि ऑस्ट्रेलिया में पाए जाने वाला कंगारू 7,000 किलोमीटर की यात्रा कर भारत के पश्चिम बंगाल कैसे पहुंचा था।
 

Related Articles

Back to top button