नाबालिग के साथ 4 युवक ने किया रेप, फिर प्रिंसिपल ने किया लड़की का बलात्कार

एक प्राइमरी के प्रिंसिपल ने एक नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार किया। किशोरी ने पुलिस को बताया कि वहां पहले से युवक दुष्कर्म करने के लिए घात लगाए मौजूद थे। प्रिंसिपल को देख युवक भाग गए लेकिन हेडमास्टर ने बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया। 

कैमूर. बिहार के कैमूर जिले के अधौरा थाना क्षेत्र के पहाड़ पर स्थित गांव में एक प्राइमरी के प्रिंसिपल ने एक नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार किया। किशोरी ने पुलिस को बताया कि शनिवार की शाम युवती शौच करने के लिए घर से बाहर गई हुई थी उस दौरान वहां पहले से युवक दुष्कर्म करने के लिए घात लगाए मौजूद थे। मौके पर पहुंचे प्राइमरी स्कूल के प्रिंसिपल को देखकर युवक भाग गए लेकिन स्कूल के हेडमास्टर ने किशोरी के साथ बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया।

पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने सोमवार सुबह बताया कि मामले में किशोरी के बयान के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए प्रधानाध्यापक सुरेंद्र कुमार भास्कर को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

14 वर्षीय पीड़िता द्वारा भभुआ महिला थाने में रविवार को मामला दर्ज कराया गया था। पीड़िता ने पुलिस को बताया था कि शनिवार की शाम शौच के लिए बालिका अपने गांव से बाहर गई हुई थी तभी पहले से मौजूद अपराधियों ने उसके साथ बलात्कार किया मौके पर पहुंचे हेडमास्टर को देखकर आरोपी युवक भाग गए फिर खुद प्रिंसिपल ने युवती के साथ बलात्कार किया।

पास के सीकरी गांव के चार नाबालिग लड़के पीड़िता को जबरन उठा ले गए जहां युवक ने किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। आरोपी युवक जब किशोरी को जबरन उठाकर ले जा रहे थे उस दौरान उधर से गुजर रहे हेडमास्टर ने देखा और युवकों का पीछा करने लगे।

युवक किशोरी को एक बस में ले गए जहां एक आरोपी ने दुष्कर्म किया बाकी अन्य चारों तरफ निगरानी कर रहे थे। पीछा करते हुए पहुचें हेडमास्टर को देखर चारों युवक घटनास्थल से भाग गए। जिसके बाद हेडमास्टर ने किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया।

खून से लथपथ बच्ची घर पहुंची और मां को जानकारी दी। मां उसे भभुआ के महिला थाने लेकर आई। बलात्कारियों और युवकों सहित पांच लोगों के खिलाफ यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम और भारतीय दंड संहिता के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया। किशोरी को इलाज और मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल भेजा गया। एसपी कुमार ने कहा कि आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 164 के तहत उसका बयान अदालत में दर्ज किया जाएगा।

मामले में पुलिस टीम आरोपी युवकों की तलाश में छापेमारी कर रही है। कैमूर के एसपी ने सख्ती बरतते हुए थाना प्रभारी और संबंधित अधिकारीयों को त्वरित कार्रवाई करने को कहा है। एसपी कुमार ने आश्वासन दिया है कि जल्द से जल्द सभी अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पिछले साल 6 अक्टूबर को इसी थाना क्षेत्र के देउरी गांव में एक 11 वर्षीय स्कूली छात्रा के साथ बलात्कार किया गया था और उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। मामले में पश्चिम बंगाल के दो राजमिस्त्री को गिरफ्तार किया गया था।

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group