ए. राजा हिंदू विरोधी टिप्पणी को लेकर विवादों में घिरे, भाजपा नेता ने भविष्य में चुनाव लड़ने से रोके जाने की मांग की

चेन्नई
हिंदुओं के खिलाफ कथित टिप्पणी को लेकर सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री ए. राजा विवादों में घिर गए हैं। तमिलनाडु भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर शिकायत की है। भाजपा नेता सीटीआर निर्मल कुमार ने ओम बिरला को लिखे पत्र में द्रमुक सांसद को भविष्य में चुनाव लड़ने से रोके जाने की मांग की है।

तमिलनाडु भाजपा के आईटी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सीटीआर निर्मल कुमार ने ट्वीटकर लोकसभा के कामकाज के संचालन नियम 233ए (4) के तहत की गई शिकायत में ए. राजा के बयान को अनैतिक बताते हुए हिंदुओं के खिलाफ घृणा फैलाने वाला बताया है। इसके साथ ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से उन्होंने मांग की है कि डीएमके सांसद राजा को भविष्य में कोई भी चुनाव लड़ने से रोका जाए। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष को लिखे पत्र की कॉपी ट्विटर पर शेयर की है।

द्रमुक नेता ए. राजा ने हाल ही में अपनी शूद्र टिप्पणी को तमिलनाडु की राजनीति में विवाद खड़ा कर दिया है। भारतीय जनता पार्टी ने उन पर दूसरों को खुश करने के लिए एक समुदाय के खिलाफ नफरत फैलाने का आरोप लगाया है। नीलगिरी के सांसद ने दावा किया कि मनुस्मृति में शूद्रों का अपमान किया गया और उन्हें समानता, शिक्षा, रोजगार और मंदिरों में प्रवेश से वंचित रखा गया।

ए. राजा का यह था हिंदू विरोधी बयान
द्रमुक की एक जनसभा को संबोधित करते हुए राजा ने कहा कि आप जब तक हिंदू (Hindu) हैं, शूद्र हैं। आप जब तक शूद्र हैं तब तक वेश्या की संतान हैं। आप जबतक हिंदू हैं तब तक पंचमन (दलित) रहेंगे। जब तक आप हिंदू हैं, तब तक अछूत हैं। द्रमुक नेता ए. राजा की इस जनसभा का वीडियो इंटरनेट मीडिया में वायरल हो रहा है। हिंदुओं के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर ए राजा घिरते हुए नजर आ रहे हैं।

Related Articles

Back to top button