आर्यन खान केस में हुई किरकिरी के बाद अपने सभी अधिकारियों से बोले NCB चीफ- केवल बड़े केस पर ध्यान दें

मुंबई

नारकोटिक्स कंट्रो ब्यूरो (NCB) के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े की ओर से अवैध दवाओं की छोटी मात्रा के आधार पर कॉर्डेलिया क्रूज मामले में एक असफल छापे के बाद जांच एजेंसी काफी सतर्क हो गई है। एनसीबी प्रमुख एसएन प्रधान ने सभी इकाइयों को निर्देश दिया है कि उपभोक्ताओं को टारगेट करने के बजाय प्रमुख मादक नेटवर्क से जुड़े मामलों पर ध्यान केंद्रित करें।

प्रधान ने एनसीबी अधिकारियों को संगठित आतंकी नेटवर्क, अंतरराष्ट्रीय माफिया और नार्को-आतंकवाद पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि एजेंसी को अपने संसाधनों और समय को कम मात्रा में ड्रग्स रखने वाले मामलों में बर्बाद नहीं करना चाहिए, जिन्हें स्थानीय पुलिस की ओर से नियंत्रित किया जा सकता है।

प्रधान ने कहा, मैंने स्पष्ट निर्देश दिया है कि संगठित सिंडिकेट और अंतरराष्ट्रीय लिंक से जुड़े बड़े मामलों की ही एनसीबी द्वारा जांच की जाएगी। हर छोटे ड्रग मामले की जांच करना हमारा काम नहीं है। हमारे पास सीमित संसाधन और समय है। स्थानीय पुलिस ऐसे मामलों को आगे बढ़ा सकती है।

बता दें कि एनसीबी ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज जहाज पर ड्रग्स मिलने के मामले में शुक्रवार को क्लीन चिट दे दी। इस मामले में पिछले साल उन्हें गिरफ्तार किया गया था। एनसीबी प्रमुख एसएन प्रधान ने कहा, हमने सबूत के सिद्धांत के आधार पर जांच की। प्रधान ने दिल्ली में कहा, हमें 14 लोगों के खिलाफ भौतिक और परिस्थितिजन्य साक्ष्य मिले और छह के खिलाफ सबूत अपर्याप्त थे।

 

Related Articles

Back to top button