महिलाओं का मजदूरों को पीटने पर फूटा गुस्सा, पुलिस टीम पर पथराव, जीप तोड़ी, कई घायल

गाजीपुर
गाजीपुर के जमानियां कोतवाली क्षेत्र में सड़क किनारे बालू उतार रहे श्रमिकों को कोतवाली पुलिस ने बेवजह पीट दिया। इसके बाद पुलिस और बनवासी समुदाय के लेागों में विवाद हो गया। सिपाहियों ने फोन करके थाने से पुलिस बुलाकर गिरफ्तारी का प्रयास किया तो बनवासी परिवार की महिलाएं पुलिस से भिड़ गईं। महिलाओं ने पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। इसमें तीन पुलिसकर्मी चोटिल हो गए।कई थानों की फोर्स पहुंचने पर महिला-पुरुषों को बुरी तरह पीटा। इसमें कई लोग घायल हो गए हैं।

जमानियां नगर स्थित पांडेय मोड़ के पास देर रात कुछ बनवासी गिट्टी और लाल बाबू उतार करकर आपस में रुपये बांट रहे थे। इसी दौरान गश्त पर निकले दो पुलिसकर्मी पहुंच गए और गाली देते हुए एक की पिटाई कर दी। घर के बाहर परिवार के सदस्यों को पिटता देखकर महिलाओं ने विरोध जताया तो सिपाहियों ने थाने से पुलिस बुला ली। इसके बाद महिलाओं ने पुलिस कर्मियों पर ईट पत्थर चलाना शुरू कर दिया। पथराव में पुलिस की जीप का शीशा टूट गया तो 3 पुलिस कर्मी घायल हो गए। इसके बाद कंट्रोल को बवाल की सूचना देकर फोर्स मांगा गया और फिर पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए पथराव करने वालों पर लाठी भांजी।

पुलिस की पिटाई में 30 लोगों को चोटें आई। इसमें बनवासी लखेन्द्र पुत्र भोनू, पप्पू पुत्र सुबाष, कंचनी कुमारी पुत्री रमेश, पप्पू पुत्र नखड़ू, नीलम पत्नी पारस, पार्वती पत्नी उपेंद्र को मामूली चोट लगी। कोतवाली पुलिस ने बनवासी के तरफ से 31 नामजद और 10 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।इसमें 26 लोगों को मौके पर गिरफ्तार कर लिया गया वहीं अन्य कीतलाश जारी है। फरार लोगों को पुलिस टीम गिरफ्तार करने के लिये जगह जगह दबिश डाल रही है। घायल पुलिस कर्मी का नाम अंकित कुमार, अमरजीत यादव, रंजीत कुमार, राजेश सिंह गाजीपुर जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

 

Related Articles

Back to top button