कांग्रेस के भरोसे नहीं रह सकते, भाजपा को हराने की रणनीति भी बताई: ममता बनर्जी

कोलकाता
पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि अगर भाजपा को आगामी लोकसभा चुनाव में परास्त करना है तो पूरे विपक्ष को साथ मिलकर लड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इन चुनावों से साबित हो गया है कि कांग्रेस अपनी विश्वसनीयता खो रही है और 2024 में भाजपा से मुकाबले के लिए इस सबसे पुरानी पार्टी के रुख की प्रतीक्षा करने की जरूरत नहीं है। मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘जो राजनीतिक दल भाजपा से लड़ना चाहते हैं, उन्हें एक साथ आना चाहिए। कांग्रेस अपनी विश्वसनीयता खो रही है। हम कांग्रेस पर निर्भर नहीं रह सकते।'

ममता बनर्जी ने कहा कि अगर कांग्रेस चाहे तो हम सभी (2024 के आम चुनाव) एक साथ लड़ सकते हैं। अभी आक्रामक मत बनें, सकारात्मक रहें। यह जीत (चार राज्यों में विधानसभा चुनाव) भाजपा के लिए बड़ी क्षति साबित होगी। उनका यह कहना अव्यावहारिक है कि 2022 के चुनाव परिणाम 2024 के चुनावों के भाग्य का फैसला करेंगे। इसके साथ ही ममता बनर्जी ने भाजपा पर चुनावी मशीनरी का उपयोग करके वोट लूटने का भी आरोप लगाया। जीतने के लिए चुनावी मशीनरी का इस्तेमाल ममता ने कहा जीत पर भाजपा को अधिक हल्ला नहीं करना चाहिए। यह फैसला वोटों को लूटने के लिए चुनावी मशीनरी के खुले तौर पर इस्तेमाल के कारण है।

बनर्जी की टिप्पणी प्रधानमंत्री मोदी के गुरुवार के इस बयान के बाद आई है कि चार राज्यों के चुनावी फैसलों ने 2024 के लोकसभा चुनावों के नतीजे तय कर दिए हैं। पीएम मोदी ने दिल्ली में भाजपा मुख्यालय से पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए गुरुवार कहा था, ‘जब हमने 2019 में (केंद्र में) सरकार बनाई तो विशेषज्ञों ने कहा कि यह 2017 की जीत (उत्तर प्रदेश में) के कारण है। मेरा मानना है कि वही विशेषज्ञ कहेंगे कि 2022 के चुनाव परिणाम 2024 के आम चुनाव के भाग्य का फैसला करेंगे।’
 

विधानसभा के परिणाम जनादेश का प्रतिबिंब नहीं
बनर्जी ने कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस को गोवा में पार्टी गठित करने के तीन महीने के भीतर 6 प्रतिशत वोट मिले। यह काफी है।’ ज्ञातव्य है कि टीएमसी गोवा विधानसभा चुनाव में अपना खाता खोलने में विफल रही है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत जनादेश का सही प्रतिबिंब नहीं है।

Related Articles

Back to top button