कैप्टन मोनिका खन्ना की की देश भर में हो रही तारीफ

 पटना
 बिहार के पटना में रविवार को बड़ा विमान हादसा टल गया। टेक-ऑफ के दौरान विमान के इंजन से पक्षी टकरा गया औऱ उसमें आग लग गई। कुछ देर हवा में रहने के बाद विमान ने सिंगल इंजन के साथ इमरजेंसी लैंडिंग की। बहुत कम लोगों को पता है कि स्पाइसजेट के जिस विमान (SpiceJet Boeing 737) के साथ यह हादसा हुआ, उसे कैप्टन मोनिका खन्ना उड़ा रही थीं। अब पूरे देश में कैप्टन मोनिका खन्ना की तारीफ हो रही है कि किस तरह बड़ी कुशलता के साथ उन्होंने सिंगल इंजन पर विमान को सुरक्षित लैंड करवाया और विमान में सवार 185 यात्रियों समेत कुल 191 लोगों की जान बचा ली।

फ्लाइट एसजी 723 की पायलट इन कमांड (पीआईसी) कैप्टन मोनिका खन्ना ने आग की भनक लगते ही प्रभावित इंजन को बंद कर दिया, जिससे बड़ा हादसा टल गया। स्पाइसजेट ने भी कैप्टन मोनिका खन्ना की तारीफ की, क्योंकि पटना हवाई क्षेत्र के आसपास ऊंचे पड़े हैं और यहां लैंडिंग उतनी आसान नहीं है। स्पाइस जेट की ओर से जारी बयान के अनुसार, कैप्टन मोनिका खन्ना और उनके साथ सेवाएं दे रहे फर्स्ट ऑफिस बलप्रीत सिंह भाटिया ने घटना के दौरान होशियारी से काम लिया। वे पूरे समय शांत रहे और विमान को अच्छी तरह से संभाला। वे अनुभवी अधिकारी हैं और हमें उन पर गर्व है।'

स्पाइसजेट विमान एसजी-723 के इंजन में रविवार को पटना से दिल्ली के लिए उड़ान भरने के दौरान आग लग गई। इस वजह से प्लेन से तेज आवाज भी आ रही थी। इस पर स्थानीय लोगों ने तत्काल जिला कंट्रोल रूम को सूचना दी। विमान में आग की लपटों को एटीसी टावर में बैठे तकनीशियनों ने भी देखा और तुरंत पायलट को सूचित किया और विमान को पटना हवाई अड्डे पर उतरने के लिए कहा। इसके बाद पायलट ने होशपूर्वक दूसरे इंजन की मदद से विमान को पटना एयरपोर्ट पर सुरक्षित लैंड करा दिया। विमान में 183 वयस्क और दो बच्चे सवार थे। चालक दल में चार सदस्यीय टीम शामिल थी और एक पायलट और दूसरा सहायक पायलट था। हादसे में किसी यात्री के घायल होने की सूचना नहीं है। वहीं, पांच घंटे बाद उन्हें दूसरे विमान से दिल्ली भेजा गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button