China Funding Issue News: Newsclick के दफ्तरों पर रेड, हिरासत में उर्मिलेश

China Funding Issue News: NCR में न्यूज क्लिक (Newsclick) वेबसाइट के पत्रकारों के ठिकानों पर रेड डाली है. यह कार्रवाई फॉरेन फंडिंग के मामले में UAPA के तहत की जा रही है.

Latest China Funding Issue News : उज्जवल प्रदेश, नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने राजधानी दिल्ली और उससे सटे NCR में न्यूज क्लिक (Newsclick) वेबसाइट के पत्रकारों के ठिकानों पर रेड डाली है. यह कार्रवाई फॉरेन फंडिंग के मामले में UAPA के तहत की जा रही है. स्पेशल सेल ने मंगलवार को सुबह-सुबह एक साथ दिल्ली, नोएडा और गजियाबाद में रेड डाली है. बताया जा रहा है कि छापामार कार्रवाई 30 से ज्यादा ठिकानों पर एक साथ चल रही है. इस दौरान कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है, जिन्हें स्पेशल सेल लाया गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक पत्रकार उर्मिलेश और सत्यम तिवारी को हिरासत में लिया गया है. इनके वकील स्पेशल सेल के दफ्तर पहुंच गए हैं. वहीं, पत्रकार अभिसार शर्मा को भी दिल्ली पुलिस की स्पेशल लेकर गई है.

रेड के दौरान दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कई इलेक्ट्रॉनिक एविडेंस जैसे लैपटॉप और मोबाइल फोन जब्त कर लिए हैं. इसके अलावा हार्ड डिस्क का डेटा भी लिया गया है. कई फाइलें भी जब्त की गई हैं. आजतक को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इस मामले में UAPA के तहत केस दर्ज किया है. दिल्ली पुलिस के इस एक्शन के बाद पत्रकार अभिसार शर्मा ने सोशल मीडिया पोस्ट की है. उन्होंने कहा है कि दिल्ली पुलिस उनके घर से लैपटॉप और उनका फोन ले गई है.

सीपीएम दफ्तर में भी पहुंची टीम

UAPA के तहत चल रही इस रेड में स्पेशल सेल के 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी शामिल हैं. रेड के दौरान इसमें स्पेशल सेल के साथ अर्धसैनिक बल के जवान भी हैं. ये जवान सुरक्षा के लिहाज से स्पेशल सेल की टीम के साथ हैं. अनुमान जताया जा रहा है कि रेड खत्म होने के बाद दिल्ली पुलिस की तरफ से प्रेस कांफ्रेंस की जा सकती है. फिलहाल सभी सीनियर अफसरों को रेड पर फोकस रखने के लिए कहा गया है.

बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस की छापेमारी 17 अगस्त को UAPA और आईपीसी की अन्य धाराओं के तहत की जा रही है. इस एफआईआर में दो समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने और आपराधिक साजिश रचने की धारा भी जोड़ी गई है.

सीपीएम दफ्तर में काम करने वाले श्रीनारायण के बेटे सुमित कुमार का मोबाइल और लैपटॉप पुलिस ने जप्त कर लिया है. वह Newsclick में ही काम करता है. उसके 36 कैनिंग लेन में स्थित ठिकाने पर छापा मारा गया है. हालांकि, सुमित को हिरासत में नहीं लिया गया है. 36 कैनिंग लेन ऑल इंडिया किसान सभा का दफ्तर है. यह घर सीपीएम महासचिव होने के नाते सीताराम यचुरी के नाम पर आवंटित है. रेड यहां रहने वाले सीपीएम दफ्तर के कर्मचारियों के कमरे में हुई है. सुमित न्यूज क्लिक के दफ्तर में ग्राफिक्स और वीडियो टीम में काम करता है.

ED के इनपुट के आधार पर एक्शन

बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस ने एक नया मामला दर्ज किया है. पुलिस उस इनपुट के आधार पर एक्शन ले रही है, जो प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने साझा किया था. ED की जांच में 3 साल के अंदर 38.05 करोड़ रुपए के फेक विदेशी फंड ट्रांजेक्शन का खुलासा हुआ था. ये पैसे गौतम नवलखा और तीस्ता सीतलवाड़ के सहयोगियों के अलावा कई पत्रकारों को दिए गए थे.

चीन से किस चैनल के जरिए आया पैसा

इन पैसों के लेनदेन का खुलासा ED की जांच में हुआ था. इसमें एफडीआई के जरिए 9.59 करोड़ रुपये और सर्विस एक्सपोर्ट के बदले 28.46 करोड़ रुपए देने की बात सामने आई थी. चीन से आया पैसा कुछ विदेशी फर्मों के माध्यम से Newsclick तक पहुंचा. यही पैसा Newsclick से जुड़े पत्रकारों को भी दिया गया था.

चीनी कंपनियों से फंडिंग मिलने का मामला

बता दें कि साल 2021 में दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने Newsclick को मिली अवैध फंडिंग को लेकर मुकदमा दर्ज किया था. ये संदिग्ध फंडिंग चीनी कंपनियों के जरिये Newsclick को मिली थी. इसके बाद ED ने मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू की थी, हालांकि हाई कोर्ट ने उस वक्त Newsclick के प्रमोटर्स को गिरफ्तारी से राहत दे दी थी.

लोकसभा में भी उठ चुका है यह मामला

एक महीने पहले लोकसभा में भी NEWS CLICK (न्यूजक्लिक) का मुद्दा उठा था. 7 अगस्त 2023 को बीजेपी सासंद निशिकांत दुबे ने कहा था कि Newsclick को चीन से फंडिंग मिल रही है. उन्होंने कहा था कि Newsclick देश विरोधी है. निशिकांत ने मीडिया पोर्टल पर चाइनीज फंडिंग से सरकार के खिलाफ माहौल बनाने का आरोप लगाया था.

‘कम्युनिस्ट पार्टी के एजेंडे को दे रहे बढ़ावा’

न्यूज़क्लिक से जुड़े विभिन्न परिसरों पर चल रही दिल्ली पुलिस की छापेमारी 17 अगस्त को UAPA और IPC की अन्य धाराओं के तहत दर्ज मामले पर आधारित है। UAPA, IPC की धारा 153A (दो समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना), IPC की धारा 120B (आपराधिक साजिश) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है

न्यूज़क्लिक से जुड़े विभिन्न परिसरों पर हुई छापेमारी पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, “मुझे इसको न्यायोचित ठहराना ठीक नहीं लगता। अगर किसी ने गलत किया है तो उस पर जांच एजेंसियां काम करती हैं। यह कहीं नहीं लिखा कि अगर आपके पास गलत तरह से पैसा आया होगा, आपत्तीजनक कार्य हुआ होगा तो उस पर जांच एजेंसी कार्य नहीं कर सकती। जांच एजेंसियां स्वतंत्र हैं और वे अपनी कार्रवाई नियमों को देखकर करती हैं।”

सूत्रों ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने जिन पत्रकारों पर छापा मारा उनमें न्यूज़क्लिक के अभिसार शर्मा भी शामिल हैं। शर्मा ने मंगलवार को एक्स पर लिखा, “दिल्ली पुलिस मेरे घर पर पहुंची। मेरा लैपटॉप और फोन छीन लिया।”

Related Articles

Back to top button