गोवा में हिंदुओं का धर्मांतरण बंद, सीएम प्रमोद सावंत बोले- 100 दिनों में लगाई रोक

पणजी

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने राज्य में हिंदुओं के धर्मांतरण पर पूरी तरह लगाम लगने का दावा किया है। उन्होंने कहा है कि सरकार ने 100 दिनों के भीतर तटीय राज्य में धर्मांतरण पर रोक लगा दी है। बुधवार को हुए एक कार्यक्रम के दौरान सीएम सावंत ने एक किताब भी जारी की, जिसमें भारतीय जनता पार्टी की 'डबल इंजन की सरकार' के काम के बारे में बताया गया है। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार ने धार्मांतरण पर सख्त रवैया अपनाया है। हमने हिंदुओं के धर्मांतरण को रोका… जो पहले हो रहा था।' खास बात है कि इससे पहले भी वह राज्य के लोगों को धर्मांतरण को लेकर सतर्क रहने की सलाह दे चुके हैं। उन्होंने आगे कहा, 'सालों से चल रहे धर्मांतरण को रोका गया है… हमने अवैध भूमि अधिग्रहण मामले में जांच के लिए SIT का गठन किया है।' मार्च में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 40 सीटों वाले राज्य में 20 सीटों पर जीत के साथ राज्य में सत्ता बरकरार रखी थी। इसके अलावा कुछ निर्दलीयों ने भी भाजपा का समर्थन किया था। वहीं, कांग्रेस 12 सीटें जीतकर दूसरे नंबर पर रही थी।
 
पहले भी कही थी धर्मांतरण की बात
अप्रैल में एक मंदिर के कार्यक्रम में पहुंचे सावंत ने कहा था, 'एक बार फिर धर्म पर हमला हो रहा है। मैं झूठ नहीं बोल रहा हूं। हमने देखा है कि गोवा के कई हिस्सों में लोग धार्मांतरण की ओर जा रहे हैं। अलग-अलग चीजों का फायदा उठाकर कि कोई गरीब है, कोई संख्या में कम है, कोई पिछड़ा हुआ है, किसी के पास भोजन या नौकरी नहीं है। इस तरीके से लोगों को ले जाया जा रहा है। हम कहते हैं कि गलती से ऐसे हालात में कोई धर्मांतरण नहीं होना चाहिए।' उन्होंने कहा, 'सरकार कभी भी धर्मांतरण की अनुमति नहीं देती, लेकिन मुझे फिर भी लगता है कि लोगों को सतर्क रहना जरूरी है… गांवों में मंदिर ट्रस्ट को सतर्क रहना जरूरी है, परिवारों को सतर्क रहना जरूरी है।' उन्होंने कहा, '60 साल पहले (गोवा में पुर्तगाल शासन) हमने कहा था देव, धर्म अनी देश और इसी भावना के साथ आगे बढ़े थे। अगर हमारे भगवान सुरक्षित हैं, हमारा धर्म सुरक्षित है और अगर हमारा धर्म सुरक्षित है, हमारा देश सुरक्षित है।'

 

Related Articles

Back to top button