Corona New GuideLines : चीन-जापान सहित इन देशों से आने वाले यात्रियों को RT-PCR Test जरूरी, सरकार ने जारी किया आदेश

Latest Corona New GuideLines : अब चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग और थाईलैंड से आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है.

Latest Corona New GuideLines : नई दिल्ली. दुनिया के कई देशों में जानलेवा कोरोना वायरस के मामले बढ़ने लगे हैं, इसको लेकर केंद्र सरकार सतर्क हो गई है और पूरी सावधानी बरत रही है. इसके मद्देनज़र अब चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग और थाईलैंड से आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया ने कहा है कि अगर इन देशों के किसी भी यात्री में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं या टेस्ट पॉजिटिव पाया जाता है तो उन्हें तुरंत क्वारंटीन कर दिया जाएगा.

Covid-19 एयर सुविधा फार्म भरना हुआ अनिवार्य

चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग और थाईलैंड से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के स्वास्थ्य स्थिति की जानकारी देने के लिए कोविड-19 एयर सुविधा फॉर्म भरना अनिवार्य किया गया है.

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के यात्रियों की रैंडम कोरोना जांच

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले कुछ यात्रियों का शनिवार से रैंडम कोरोना वायरस जांच परीक्षण किया जाएगा. नागर विमानन मंत्रालय ने शुक्रवार को इस बारे में दिशानिर्देश जारी करते हुए कहा कि चालक दल के सदस्यों को इसके लिए चुने गए यात्रियों को हवाई अड्डे में स्थित जांच सुविधा तक लाना होगा. चीन और कई अन्य देशों में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के बीच सरकार ने प्रत्येक उड़ान में कुल यात्रियों के दो प्रतिशत का आगमन के बाद हवाई अड्डे पर रैंडम परीक्षण कराने का फैसला किया है.

उन्होंने कहा, इसको लेकर जल्द ही विस्तृत आदेश जारी किया जाएगा। बता दें कि, बीते 24 घंटे के दौरान भारत में भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। यहां पर 24 घंटे में कोरोना के 201 केस सामने आए हैं।

कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर किया जायेगा क्वारंटीन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया (Union Health Minister Mansukh Mandaviya) ने कहा कि, बाहर से देश में आने वाला कोई भी शख्स यदि कोरोना पॉजिटिव पाया गया तो उसे क्वारंटीन किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि, हवाई सफर करने वाले सभी यात्री पूरी तरह से वैक्सीनेडेट होने चाहिए। सभी यात्री फ्लाइट्स में और एंट्री प्वाइंट्स पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। लोगों को मास्क पहनना होगा और साथ ही उन्‍हें सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो करनी होगी।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- 75% लोगों ने बूस्टर डोज नहीं लगवाई

दूसरी तरफ, वैक्सीन को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट आई है। इसमें बताया गया है कि देश में 75% लोगों ने बूस्टर डोज नहीं लगवाई है। अभी तक किसी भी राज्य में बूस्टर डोज का कवरेज 50% तक नहीं पहुंचा है। हालांकि, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और ओडिशा में 40% से ज्यादा लोगों ने बूस्टर डोज लगवा ली है।

केंद्र की 3 दिनों में 3 हाईलेवल मीटिंग

कोरोना महामारी से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने तीन दिनों में तीन हाईलेवल मीटिंग कीं। शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की। उन्होंने T3 यानी टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की रणनीति अपनाने पर जोर दिया।

चीन में इस समय कोरोना के BF.7 सब-वैरिएंट से हर दिन 5 हजार मौतें हो रही हैं। यह वैरिएंट भारत में सितंबर में आ गया था। देश में इसके केवल 4 केस हैं। इनमें 3 गुजरात और 1 केस ओडिशा में है। बिना लक्षण के ये मरीज अब स्वस्थ हैं।

27 दिसंबर को अस्पतालों में मॉक ड्रिल होगी

मांडविया ने राज्यों से 27 दिसंबर को अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं की मॉक ड्रिल करने के लिए कहा है। खासकर ऑक्सीजन प्लांट और वेंटिलेटर को लेकर राज्यों को आगाह किया। गौरतलब है कि 2020-21 में इन दो चीजों की भारी कमी हुई थी। ऐसे में केंद्र सरकार इन व्यवस्थाओं को पुख्ता रखना चाहती है।

Back to top button