जोधपुर में कर्फ्यू को 6 मई तक के लिए बढ़ाया गया, अबतक कुल 140 गिरफ्तार

जोधपुर
जोधपुर में सांप्रदायिक तनाव के चलते कर्फ्यू को 6 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। पुलिस कमिश्नर ने जोधपुर में तनाव को देखते हुए कर्फ्यू को 6 मई तक बढ़ाने का निर्देश दिया है। उनकी ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि जोधपुर में 3 मई तक के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया था, जिसे 6 मई तक के लिए बढ़ाया जाता है। रायकाबाग पैलेस बस स्टैंड और रायकाबाग रेलवे स्टेशन को कर्फ्यू क्षेत्र से बाहर रखा गया है। साथ ही छात्र और शिक्षक जो परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं उन्हें भी कर्फ्यू में छूट दी गई है। स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े लोग, बैंक कर्मचारी, न्यायिक अधिकारी, मीडिया के लोगों को कर्फ्यू में छूट दी गई है। इसके अलावा अखबार बांटने वालों को भी छूट दी गई है। जिले में इंटरनेट सेवा को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।
 
जोधपुर के डीएम हिमांशु गुप्ता ने कहा कि शहर में कानून व्यवस्था की स्थिति का आंकलने करने के बाद इंटरनेट की सेवा को फिर से बहाल करने पर फैसला लिया जाएगा। फिलहाल शहर में स्थिति नियंत्रण में हैं, माहौल शांतिपूर्ण है। हिंसा में शामिल 140 लोगों को अभी तक गिरफ्तार किया जा चुका है। ईद के दिन हुई हिंसा मामले में कुल 14 केस दर्ज किए गए हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के साथ बैठक की गई है, फिलहाल उन लोगों ने अपना प्रदर्शन रद्द कर दिया गया है। गौर करने वाली बात है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृहक्षेत्र में ईद के दिन तनाव बढ़ गया था, जिसके चलते प्रशासन को इंटरनेट सेवा को बंद करना पड़ा था और 10 पुलिस क्षेत्र में कर्फ्यू लगाना पड़ा था।
 

दरअसल जलोरी गेट पर धार्मिक झंडा लगाने को लेकर जोधपुर में तनाव हो गया था, जिसके बाद पत्थरबाजी में पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की थी की वह शांति बनाए रखें। जोधपुर की घटना के बाद पुलिस ने किसी भी तरह की अफवाह को फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट सेवा को प्रतिबंधित कर दिया था। बारी पुलिसबल को तैनात किया गया था जिससे कि तनाव आगे ना बढ़े। उपद्रवियों को काबू में लाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा था।

 

Related Articles

Back to top button