ताड़ के तेल से बनाते ‘देसी घी’, फिर बेचते बड़ा महंगा, 5 साल बाद आए पकड़ में, 2500Kg जब्त

पलवल
 हरियाणा के पलवल में बड़े फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ हुआ है। यहां एक फैक्ट्री पिछले 5 साल से पाम ऑयल (यानी ताड़ के तेल) से नकली घी बनाकर बेच रही थी। उसके संचालक नामी कंपनियों के डिब्बों में नकली घी पैक कराकर दूसरे शहरों में भिजवाते थे। इससे उनकी तगड़ी कमाई होती थी। हरियाणा में 'ब्लैक कंपनी' का पर्दाफाश इसका खुलासा तब हुआ जब सीआईडी की सूचना पर सीएम फ्लाइंग ने छापा मारा। सीएम फ्लाइंग को मौके से बड़ी संख्या में कंपनियों के खाली डिब्बे, पैकिंग मशीन सहित अन्य सामान मिला। 25 क्विंटल से ज्यादा नकली घी बरामद हुआ। अब सीएम फ्लाइंग की शिकायत पर शहर थाने की पुलिस फैक्ट्री संचालकों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। पुलिस के अनुसार, यह काला-धंधा पलवल के दुकड़िया मोहल्ले में राकेश सिंगला की एचवी ट्रेडिंग कंपनी से होता था। कंपनी मालिक समेत अन्य को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

पाम ऑयल से बनाते थे देसी घी जांच-पड़ताल में सामने आया कि, फैक्ट्री के अंदर पाम ऑयल (यानी ताड़ के तेल) से नकली घी बनता था। पाम ऑयल काफी सस्ता मिल जाता है, जो कि वनस्पति तेल होता है। ऐसे तेल का पूर्वी एशियाई देश मलेशिया सबसे बड़ा उत्पादक है। भारत में इस तेल की बड़ी मात्रा मलेशिया से ही आती है। पलवल के दुकड़िया मोहल्ले में राकेश सिंगला की एचवी ट्रेडिंग कंपनी इसी तेल का इस्तेमाल नकली घी बनाने में कर रही थी। बड़ी मात्रा में बरामद हुआ माल सीआईडी-सीएम फ्लाइंग व फूड सेफ्टी की टीम ने जब कार्रवाई की, तो उन्हें यहां 25 क्विंटल नकली घी मिला।

इसके अलावा अमूल, पतंजलि, मदर डेयरी, मिल्क फूड, दीप, नटराज व सारथी जैसी ब्रांडेड कंपनियों के रेपर, खाली प्लास्टिक व कागज के डिब्बे, पामोलीन ऑयल, कढ़ाई, गैस सिलेंडर, चूल्हा, इलेक्ट्रॉनिक तराजू, डिब्बों को सील करने की मशीन, पैकिंग मशीन व स्टंप मशीन सहित पाम ऑयल का कैंटर मिला। टीमों ने कंपनी की बिल बुक सहित अन्य कागजों को भी कब्जे में ले लिया। किसी विभाग के दस्तावेज नहीं मिले सीएम फ्लाइंग के डीएसपी राजेश चेची के मुताबिक, उक्त कंपनी के मालिक राकेश सिंगला से जब कंपनी चलाने, पैकिंग करने व सरकारी विभागों से ली हुई एनओसी मांगी गई तो वह कुछ भी नहीं दिखा सके।

इसके बाद मौके पर बिजली विभाग, फॉयर विभाग, जीएसटी विभाग, फूड सप्लाई विभाग, फूड सेफ्टी विभाग समेत अन्य विभागों के अधिकारियों को सूचना देकर बुलाया गया। सभी विभागों का कहना था कि उन्हें उक्त कंपनी के बारे में कोई सूचना नहीं दी गई और न ही कोई एनओसी ली गई। वहीं, बिजली का लोड भी अधिक पाया गया। हरियाणा में इन चार जिलों में मास्क पहनना अनिवार्य किया गया ब्रांडेड कंपनियों के डिब्बों में करते थे पैकिंग इस फैक्ट्री से रोज ब्रांडेड कंपनियों के डिब्बों में नकली घी पैक कर फरीदाबाद, पलवल, होडल, हथीन व पुन्हाना और यूपी के कोसीकलां एवं मथुरा सीधे सप्लाई किया जाता था। फिर दूर तक पहुंचता था।

Related Articles

Back to top button