ममता बनर्जी के मंत्री पार्थ चटर्जी को ED ने किया गिरफ्तार, सहयोगी के घर से मिले थे 20 करोड़ कैश

कोलकाता
 
पश्चिम बंगाल के मंत्री और तृणमूल कांग्रेस महासचिव पार्थ चटर्जी को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को सरकारी स्कूलों में कथित भर्ती घोटाले के सिलसिले में करीब 26 घंटे तक पूछताछ के बाद गिरफ्तार खर लिया है। कल उनके करीबी अर्पिता मुखर्जी के घर से जांच एजेंसी को 20 करोड़ रुपए कैश मिले थे। शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच के सिलसिले में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के दो मंत्रियों समेत करीब एक दर्जन लोगों के घरों पर शुक्रवार को एक साथ छापेमारी की थी।

इससे पहले शुक्रवार को ही ED को चटर्जी की करीबी माने जाने वाली अर्पिता मुखर्जी की दक्षिण कोलकाता में स्थित एक संपत्ति से 20 करोड़ रुपए की नकद राशि मिली थी. अर्पिता को हिरासत में ले लिया गया है. जब यह कथित शिक्षक भर्ती घोटाला हुआ था, तब चटर्जी राज्य के शिक्षा मंत्री थे. प्रवर्तन निदेशालय इस घोटाले में कथित रूप में शामिल लोगों के खिलाफ धनशोधन संबंधी पहलू की जांच कर रहा है.

दिल्ली से कोलकाता पहुंचे थे ED के वरिष्ठ अधिकारी

जानकारी के मुताबिक पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार किए जाने के बाद सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित ED के मुख्यालय ले जाया जा रहा है और उन्हें आज ही कोर्ट में पेश किया जा सकता है. बताया जा रहा है कि पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली से प्रवर्तन निदेशालय के विशेष अधिकारी कोलकाता पहुंचे थे. इन वरिष्ठ अधिकारियों से सलाह लेने के बाद ही चटर्जी को गिरफ्तार किया गया है.

जांच में नहीं कर रहे थे सहयोग, ED ऑफिस पर भारी बल तैनात

चटर्जी पर आरोप है कि वो प्रवर्तन निदेशालय को जांच में सहयोग नहीं करे रहे थे. उन्होंने उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी से अपने संबंधों का खुलासा भी नहीं किया था. अब ED उन्हें कोर्ट में पेश करने के बाद कस्टडी में लेकर पूछताछ करेगी. फिल्हाल सीजीओ कॉम्प्लेक्स, जहां पर प्रवर्तन निदेशालय का मुख्यालय है, वहां भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है. किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए केंद्रीय बल के जवानों को भी तैनात किया गया है.ED को अर्पिता के खिलाफ कुछ पुख्ता सबूत मिले थे, जिसके बाद उनके घर पर भी रेड मारी. कई घंटों की रेड में नोटों का अंबार सामने आया था.

वैसे अर्पिता के अलावा ED कई और ठिकानों पर रेड मारी. इस लिस्ट में माणिक भट्टाचार्य, आलोक कुमार सरकार, कल्याण मॉय गांगुली जैसे नाम भी शामिल हैं. इन सभी का बंगाल शिक्षा भर्ती घोटाले में कनेक्शन सामने आया था. लेकिन सबसे बड़ा एक्शन अर्पिता के खिलाफ हुआ है, जिनके घर पर 20 करोड़ कैश मिला है.

 

Related Articles

Back to top button