गहलोत सरकार ने 4 साल में 13 भर्ती परीक्षाएं की रद्द

 उदयपुर
 राजस्थान (Rajasthan) में अशोक गहलोत सरकार (Gehlot Government) के 4 साल हो चुके हैं. लोगों के मुताबिक तो सीएम अशोक गहलोत (Asok Gehlot) ने कई योजनाएं निकाली और चिकित्सा क्षेत्र में भी लोगों को काफी हद तक राहत दीं, लेकिन शिक्षा के क्षेत्र में काफी विवाद रहे. विवाद पेपर लीक से लेकर भर्ती रद्द होने तक के थे. भरपाई के लिए भले ही दूसरी वैकेंसियां निकाली गईं, लेकिन विवाद नहीं थमा. वहीं परीक्षाएं रद्द होने का दंश अभी तक कई युवा भुगत रहे हैं.
 
राजस्थान में मुख्य 13 परीक्षाएं विवादों में रही और रद्द हुईं. इसमें कई गिरफ्तारियां हुईं तो कई गिरोह का खुलासा भी हुआ. यहां तक कि एसओजी ने जांच की. सीबीआई जांच तक की मांग उठी. परीक्षा रद्द होने के पीछे भी अनेकों कारण सामने आए. इसमें विधायक के भाई तक शामिल पाए गए. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कर्मचारी चयन बोर्ड से मल्टी टास्किंग स्टाफ की परीक्षा हुई थी. इसमें डमी अभ्यर्थी बैठाने के गिरोह का पर्दाफाश हुआ था, जिसमें निर्दलीय विधायक के भाई की गिरफ्तारी हुई थी.
 
एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव की हुई थी गिरफ्तारी

वहीं जेल प्रहरी परीक्षा में पेपर होने के डेढ़ घंटे पहले ही आंसर शीट आ गई. सबसे बड़ा रीट पेपर लीक मामला हुआ था. इसमें सैकड़ों लोगों का नाम सामने आया था. ग्राम विकास अधिकारी परीक्षा में पेपर आउट मामले में एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव की गिरफ्तारी हुई थी. इसी प्रकार राजस्थान में भर्ती परीक्षाओं को लेकर कई विवाद हुए.
 
राजस्थान में पिछले 4 सालों के भर्ती परीक्षाओं में पेपर लीक/रद्द के मामले…

 

  • 1. 29 दिसंबर 2019 को आयोजित लाइब्रेरियन परीक्षा रद्द हुई.
  • 2. 19 सितंबर 2020 को पुनः आयोजित लाइब्रेरी परीक्षा का परीक्षा से पहले ही उत्तरकुंजी वाट्सऐप पर वायरल. एसओजी में केस हुआ. अभ्यर्थियों ने आंदोलन किए. कोर्ट से स्टे आया.
  • 3. 6 दिसंबर को आयोजित जेइएन परीक्षा पेपर लीक के चलते रद्द हुई.
  • 4. कृषि पर्यवेक्षक परीक्षा में धांधली के आरोप लगे. युवकों ने आंदोलन और धरने दिए. दिव्यांग की सीट तक में फर्जीवाड़ा हुआ. अंत में कोई कार्रवाई नहीं.
  • 5.  एसआई परीक्षा में पेपर लीक गिरोह का भंडाफोड़ हुआ, जिसमें गिरफ्तारी भी हुई, लेकिन फिर भी अनदेखी.
  • 6. राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी का पेपर लीक हुआ और गिरफ्तारी भी हुई.
  • 7. एलडीसी परीक्षा पेपर लीक के चलते हाईकोर्ट से रद्द.
  • 8. राजस्थान पुलिस कांस्टेबल परीक्षा का कई शिफ्ट में एग्जाम हुआ, जिसके पेपर लीक के चलते परीक्षा रद्द हुई.
  • 9. रीट परीक्षा में पेपर लीक के चलते रिजल्ट घोषित होने के बाद भी लेवल 2 रद्द किया गया.
  • 10. सीएचओ परीक्षा में भी पेपर लीक कबूलनामा.
  • 11. तकनीकी सहायक भर्ती की अजमेर, जयपुर, कोटा स्थित सेंटर्स पर परीक्षा रद्द.
  • 12. एमटीएस परीक्षा में डमी अभ्यर्थी बैठाने के मामले में जयपुर स्थित एक सेंटर से विधायक का भाई गिरफ्तार.
  • 13. जेल प्रहरी भर्ती परीक्षा की उत्तर कुंजी पेपर से पहले ही लीक हुई, जिसमें भी गिरफ्तारी हुई.

 
15 दिन में हो सजा
राजस्थान रोजगार महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष असलम चोपदार का कहना है कि पेपर आउट होने से बेरोजगारों, मजदूर-किसान परिवार से जुड़े हुए युवाओं के सपने टूटते हैं, जो सालों भर की मेहनत करते हैं और सरकारी तंत्र की छोटी सी लापरवाही से उनका करियर खराब हो जाता है. इसमें सरकार को जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई करनी चाहिए और पेपर आउट करने वालों के खिलाफ बनाए कानून को लागू करना चाहिए. साथ में इस संदर्भ में जो भी लापरवाह व्यक्ति हो, उसके लिए विशेष अदालत में केस चले और 15 दिनों में नतीजा हो कर, सजा हो.

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group