जीएसटी कलेक्‍शन लगातार तीसरे महीने रहा 1.40 लाख करोड़ के पार, मई में 1.41 लाख करोड़ रुपये रहा जीएसटी संग्रह

नई दिल्‍ली
मई में वस्‍तु एवं सेवा कर से सरकार को 1.41 लाख करोड़ रुपये प्राप्‍त हुए हैं। वित्‍त मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी। पिछले साल की समान अवधि की तुलना में जीएसटी कलेक्‍शन 44 प्रतिशत बढ़ा है। पिछले दो महीने से जीएसटी कलेक्‍शन में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही थी। अप्रैल में रिकॉर्ड 1.68 लाख करोड़ का जीएसटी कलेक्‍शन हुआ था। मार्च में जीएसटी राजस्‍व 1.42 लाख करोड़ रुपये था और फरवरी में 1.33 लाख करोड़ रुपये। वित्‍त मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि मई 2022 में कुल जीएसटी राजस्‍व संग्रह 1,40,885 करोड़ रुपये रहा जिसमें CGST 25,036 करोड़ रुपये, SGST 32,001 करोड़ रुपये, IGST 73,345 करोड़ रुपये और सेस 10,502 करोड़ रुपये रहा है। पिछले साल मई में जीएसटी से प्राप्‍त कुल राजस्‍व 97,821 करोड़ रुपये था, मई 2022 में संग्रहित राशि इसकी तुलना में 44 प्रतिशत अधिक है।

जीएसटी प्रभावी होने के बाद से ऐसा चौथी बार है जब मासिक जीएसटी कलेक्‍शन की राशि 1.40 लाख करोड़ रुपये से अधिक है और यह मार्च 2022 के बाद से यह लगातार तीसरा ऐसा महीना है। वित्‍त मंत्रालय के बयान के अनुसार, मई में हुआ जीएसटी कलेक्‍शन अप्रैल के रिटर्न्‍स पर निर्भर करता है जो वित्‍त वर्ष का पहला महीना होता है और अप्रैल में हुआ जीएसटी कलेक्‍शन मार्च के रिटर्न्‍स पर आधारित होता है जो वित्‍त वर्ष का आखिरी महीना होता है। मई का जीएसटी कलेक्‍शन हमेशा ही अप्रैल की तुलना में कम रहा है। हालांकि, यह उत्‍साहजनक है कि मई महीने में भी सकल जीएसटी राजस्‍व 1.40 लाख करोड़ रुपये के पार रहा है। अप्रैल 2022 में ई-वे बिल की कुल संख्‍या 7.4 करोड़ रही जो मार्च 2022 के 7.7 करोड़ की तुलना में 4 प्रतिशत कम है।

Related Articles

Back to top button