हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बादल फटने से भारी तबाही, अब तक मानसून से 40 की मौत

कुल्लू

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बादल फटने से 4 लोग लापता हो गए हैं। इस हादसे में पुल, मकान, रेस्टोरेंट तक बह गए हैं। यहां की एक कैंपिंग साइट भी बह गई है। मानसून के शुरूआती सप्ताह में ही हिमाचल प्रदेश में अब तक 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में मणिकर्ण घाटी के चोज गांव में बादल फट गया है। इसकी वजह से स्थानीय नाले में भयंकर बाढ़ आने के चलते चार लोगों के बह जाने की आशंका है। यहां बाढ़ आने से एक कैंपिंग साइट बह गई है। कुल्लू के एडीएम प्रशांस सरकैक ने इस मामले की पुष्टि की है। प्रशासन का कहना है कि स्थानीय लोगों ने चार लोगों के बह जाने की सूचना दी है। कुछ घर भी पानी में बह गए हैं और गांव को जोड़ने वाला पुल भी क्षतिग्रस्त हो गया है।

भारी बारिश से हुई तबाही
कुल्लू में बादल फटने की सूचना मिलने के बाद स्थानीय प्रशासन और पुलिल के अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। कुल्लू में पिछले सप्ताह से ही भारी बारिश हो रही है। कसोल में सड़क पर मलबा आ गया है। मलाणा में डैम साइट को भारी नुकसान पहुंचा है। हिमाचल प्रदेश मौसम विभाग ने बुधवार के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया था। जबकि गुरूवार से तीन दिन के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है।

अब तक 40 की हो चुकी है मौत
हिमाचल प्रदेश में मानसून के शुरूआती एक सप्ताह में ही 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें बारिश की वजह से हुए सड़क हादसे भी शामिल हैं। हिमाचल प्रदेश के राजस्व विभाग के अनुसार अब तक करीब 1 करोड़ 32 लाख रुपए से ज्यादा की संपत्ति का नुकसान हुआ है। स्थानीय प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर राहत व बचाव कार्य शुरू कर दिया है। वहीं लोगों का कहना है कि बारिश की वजह से आम जनजीवन त्रस्त हो गया है।

Related Articles

Back to top button