यहां 45 डिग्री नहीं माइनस में है तापमान, इन तीन पर्यटन स्‍थलों में मई में हो रही बर्फबारी

मनाली
एक ओर मैदानी क्षेत्रों में तापमान 45 डिग्री तक पहुंच रहा है। वहीं आसमान छूते पहाड़ों में तापमान माइनस पर चल रहा है। मनाली व लाहुल के पर्यटन स्थल रोहतांग सहित बारालाचा व शिंकुला दर्रे में पर्यटक माइनस तापमान के बीच आसमान से गिर रहे बर्फ के फाहों का आनंद ले रहे हैं। 13 हजार फीट से भी ऊंचे इन दर्रों में करीब एक सप्ताह से बर्फ के फाहे गिर रहे हैं तथा घाटी में बारिश हो रही है जिससे मौसम ठंडा हो गया है। मनाली में भी सुबह व शाम को पर्यटक स्वेटर व जैकेट में नजर आ रहे हैं। वहीं, रोहतांग, बारालाचा व शिंकुला दर्रे का रुख तो गर्म कपड़ों से पैक हुए बिना नहीं किया जा सकता।

अटल टनल बनने के बाद बारालाचा व शिंकुला दर्रा भी पर्यटकों की पहुंच में आ गया है। पर्यटक मनाली से सुबह इन पर्यटन स्थलों का रुख कर रहे हैं और बर्फ के दीदार कर शाम को बापस मनाली लौट रहे हैं। इसके साथ ही धार्मिक पर्यटन स्थल त्रिलोकीनाथ व चन्द्रताल में भी  पर्यटकों की चहल कदमी बढ़ी है। समर सीजन ने गति पकड़ ली है। हर रोज अन्‍य राज्य से 2000 पर्यटक वाहन मनाली में प्रवेश कर रहे हैं। साथ ही शिमला, डलहौजी व धर्मशाला से भी हिमाचल के पांच सौ से अधिक पर्यटक वाहन मनाली पहुंच रहे हैं। होटलों में भी आक्युपेंसी 80 प्रतिशत का आंकड़ा पार करने लगी है। सभी छोटे बड़े होटलों सहित होम स्टे व बीएंडबी में कारोबार ने गति पकड़ी है।

होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष मुकेश ठाकुर व  उपाध्यक्ष रोशन ठाकुर ने बताया कि इन दिनों मनाली आ रहे पर्यटक रोहतांग, बारालाचा व शिंकुला में बर्फ के फाहों का आनंद ले रहे हैं। रोहतांग दर्रे के लिए निर्धारित सभी 1200 परमिट एक सप्ताह पहले ही एडवांस में बुक होने लगे हैं। कुल्लू प्रशासन पर्यटकों को बेहतरीन सुविधाएं मुहैया करवा रहा है। हर रोज 1200 से अधिक पर्यटक रोहतांग जा रहे हैं, जबकि दो हजार से अधिक पर्यटक वाहन लाहुल स्पीति के पर्यटन स्थलों में दस्तक दे रहे हैं। उपायुक्त लाहुल स्पीति नीरज कुमार ने कहा जिला में पर्यटकों की आमद में भारी बढ़ोतरी हुई है। प्रशासन की ओर से पर्यटकों को यथासंभव सुविधाएं दी जा रही हैं। एसडीएम मनाली डा. सुरेन्द्र ठाकुर ने कहा कि बेहतर व्यवस्था के साथ पर्यटकों को रोहतांग भेजा जा रहा है।

Related Articles

Back to top button