भारत के डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम का IMF भी हुआ मुरीद, बताया- चमत्कार

नई दिल्ली।
 
अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) भारत के डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर और दूसरे सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों की जमकर तारीफ की है। आईएमएफ के वरिष्ठ अधिकारी ने इसे चमत्कार माना है। साथ ही उन्होंने दुनिया के दूसरे देशों को भारत से सीख लेने की नसीहत दी है। आईएमएफ में वित्तीय मामलों के विभाग के उप निदेशक पाओलो मौरो ने कहा कि अपने नागरिकों तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने के मामले में भारत के प्रयास काफी प्रभावशाली रहे हैं।  

उन्होंने कहा, ''भारत से सीखने के लिए बहुत कुछ है। हमारे पास लगभग हर महाद्वीप और आय के हर स्तर के उदाहरण हैं। अगर मैं भारत को देखता हूं तो यह वास्तव में काफी प्रभावशाली है?" उन्होंने कहा, "भारत की जनसंख्या को देखते हुए यह एक तार्किक चमत्कार है। कम आय वाले लोगों की मदद करने वाले ये कार्यक्रम सचमुच करोड़ों लोगों तक पहुंचते हैं।" आपको बता दें कि मौरो वाशिंगटन में आईएमएफ और विश्व बैंक समूह की 2022 की वार्षिक बैठक के दौरान एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

आईएमएफ के वरिष्ठ अधिकारी ने महिलाओं, बुजुर्गों और किसानों तक कल्याणकारी कार्यक्रमों का लाभ पहुंचाने के लिए तकनीक के इस्तेमाल पर आश्चर्य व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि भारत में जो सबसे आकर्षक चीज है वह है विशिष्ट पहचान प्रणाली यानी आधार कार्ज का इस्तेमाल।
 
मौरे ने कहा, "अन्य देशों में मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से उन लोगों को पैसा भेजने का अधिक उपयोग होता है जिनके पास वास्तव में बहुत सारा पैसा नहीं है, लेकिन उनके पास एक मोबाइल फोन जरूर होता है।"

 

Related Articles

Back to top button