ऐसा स्वागत पहले कभी नहीं देखा, मैं अभिभूत हूं -बोरिस जॉनसन

नई दिल्ली
 ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British Prime Minister Boris Johnson) इन दिनों दो दिन के भारत दौरे पर हैं। बोरिस जॉनसन भारत में हुए अपने स्वागत से इतने प्रभावित हैं कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ((Prime Minister Narendra Modi)) को इसके लिए विशेष धन्यवाद (Sprcial Thanks) दिया है। यही नहीं, उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को अपना खास दोस्त (Khaas Dost) भी बताया है।

बोरिस जॉनसन ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, मेरा यहां भव्य स्वागत हुआ। मैं इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के लोगों का विशेष धन्यवाद करता हूं। भारत दौरे पर जिस तरह मेरा स्वागत हुआ, उससे मैं खुद को यहां सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और अमिताभ बच्चन (Amitabh Bacchan) जैसा महसूस कर रहा हूं।

हर तरफ सड़कों पर मेरे पोस्टर-बैनर लगे थे
यही नहीं, ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने दोनों देशों के बीच हुई द्विपक्षीय वार्ता के बारे में मीडिया को जानकारी भी दी। गुजरात में हुए भव्य स्वागत से अभिभूत जॉनसन ने इस दौरान भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ भी की। उन्होंने कहा, मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं सचिन और अमिताभ हूं। अहमदाबाद में अलग-अलग रास्तों पर मेरे बैनर और  पोस्टर हर तरफ लगे थे।

ऐसा स्वागत पहले कभी नहीं देखा, मैं अभिभूत हूं
यह देखकर मुझे बहुत अच्छा लगा। जॉनसन ने कहा कि गुजरात के लोगों ने मेरे  लिए शानदार स्वागत समारोह रखा। यह बेहद शानदार था। मैंने अपनी जिंदगी में ऐसा स्वागत  कभी नहीं देखा। मैं इससे अभिभूत हूं। पूरी दुनिया में मुझे कहीं और ऐसा स्वागत नहीं मिलता। यह पहली बार था, जब मैंने भारतीय प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के गृह राज्य का दौरा किया और यहां की विशेषताएं  देखीं।

महात्मा गांधी को श्रद्धासुमन अर्पित किए
गुजरात में बोरिस जॉनसन गुरुवार को राजघाट गए और वहां पुष्पांजलि देते हुए महात्मा गांधी को श्रद्धासुमन अर्पित किए। वहीं, अगले दिन शुक्रवार को जॉनसन ने ब्रिटेन और भारत की आर्थिक साझेदारी, राजनयिक और रणनीतिक रक्षा प्रणाली से जुड़े मुद्दों पर बातचीत की। इसका मकसद प्रशांत महासागर क्षेत्र में साझेदारी और सुरक्षा से जुड़े मसलों पर आगे बढ़ना है।

इससे पहले जॉनसन ने एक tweet करके लिखा था कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में होना शानदार है। जॉनसन ने यह भी लिखा कि उन्हें इस बात की अपार संभावनाएं नजर आती हैं कि दोनों महान देश मिलकर क्या हासिल कर सकते हैं। हमारी पावरहाउस साझेदारी(ताकतवर दोस्ती) रोजगार, विकास और अवसर प्रदान कर रही है। मैं आने वाले दिनों में इस साझेदारी को मजबूत करने की आशा करता हूं।

साबरमती आश्रम में बोरिस जॉनसन ने चरखा चलाया
गुजरात पहुंचते ही बोरिस जॉनसन साबरमती आश्रम गए थे। यहां बापू के चित्र पर माल्यार्पण किया। इसके बाद उन्होंने चरखा चलाकर सूत काता। जॉनसन ने यहां विजिटर बुक में लिखा- "इस असाधारण व्यक्ति के आश्रम में आना एक बहुत बड़ा सौभाग्य है। यह समझने के लिए कि कैसे उन्होंने सच्चाई और अहिंसा के ऐसे सरल सिद्धांतों को बेहतर बनाने के लिए दुनिया को बदलने के लिए प्रेरित किया।"

जॉनसन की JCB की सवारी मीडिया पर छाई रही
बोरिस जॉनसन गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल के साथ पंचमहल स्थित एक जेसीबी कारखाने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने जेसीबी की सवारी की। वह कूदकर जेसीबी पर चढ़ गए और सीट पर बैठकर स्टेयरिंग को हाथ लगाया। कुछ देर तक उन्होंने जेसीबी के केबिन का जायजा लिया उनकी यह तस्वीर मीडिया पर छाई हुई है।

Related Articles

Back to top button