जाट महासभा की महिला अध्यक्ष बनी जय इंदर कौर

चंडीगढ़

 पंजाब की राजनीति में कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को एक-दूसरे का धुर विरोधी माना जाता है। पंजाब के सीएम पद से कैप्टन अमरिंदर सिंह के हटने में भी नवजोत सिंह सिद्धू की अहम भूमिका मानी जाती है। लेकिन अब नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर की जगह जाट महासभा की महिला विंग की अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह की बेटी जय इंदर कौर बनी हैं। उन्हें ही जाट महासभा की पंजाब यूनिट की महिला विंग की नई अध्यक्षा की जिम्मेदारी दी गई। ऑल इंडिया जाट महासभा को जाट बिरादरी के अहम संगठन के तौर पर देखा जाता है। कैप्टन अमरिंदर सिंह भी लंबे वक्त से इससे जुड़े रहे हैं।

बीते साल अप्रैल में ही नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू को यह पद मिला था। नवजोत कौर को यह जिम्मेदारी तब मिली थी, जब कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ गुस्सा बढ़ रहा है और उन्हें पद से हटाने के लिए सिद्धू ने अभियान छेड़ दिया था। ऑल इंडिया जाट महासभा को जाट बिरादरी में गहरा असर रखने वाले संगठन के तौर पर जाना जाता है। इस संगठन की ओर से हर साल ही एक बड़ा सम्मेलन आयोजित होता है, जिसमें देश भर से जाट नेताओं को आमंत्रित किया जाता है। इस संगठन में पदाधिकारी होने के मायने यह हैं कि उस नेता की समाज पर अच्छी पकड़ मानी जाती है।

गौरतलब है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह इस बार अपनी ही नई पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस के बैनर तले चुनाव में उतरे थे। इसके अलावा नवजोत सिंह सिद्धू अमृतसर ईस्ट सीट से चुनाव में उतरे थे। माना जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू अपनी सीट पर भी फंसे हुए हैं। टाइम्स नाउ वीटो के एग्जिट पोल में भी ऐसा ही अनुमान जाहिर किया गया है। सभी एग्जिट पोल्स में पंजाब में आम आदमी पार्टी को बहुमत मिलने या फिर उसके सबसे बड़े दल के तौर पर उभरने की बात कही गई है। 10 मार्च यानी गुरुवार को ही चुनाव नतीजे आने वाले हैं।

Related Articles

Back to top button