नरेंद्र मोदी के बेस्ट फ्रेंड बने जसूद खान, अधिकांश दोस्त थे मुसलमान, मिला ये निकनेम

 नई दिल्ली
 
नरेंद्र मोदी साल 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री बने। इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री के तौर पर 2014 में देश की कमान संभाली। फिलहाल, यह सफर जारी है और आज वह देश के हर समुदाय, वर्ग, जाति से जुड़े सभी नागरिकों का नेतृत्व कर रहे हैं। खास बात है कि दलितों के अधिकारों की बात करने वाले मोदी का बचपन से ही मुसलमान समुदाय के साथ खास कनेक्शन रहा है।

मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात के वडनगर में हुआ था। घर में उनके दो बड़े भाई भी थे। इनमें सोम की उम्र 6 साल की थी और अमृत महज 4 साल के ही थे। मोदी के आने के 2 साल बाद घर में एक बहन का जन्म हुआ, जिसका नाम वसंती रखा गया। बाद में दो और भाई प्रह्लाद और पंकज का जन्म हुआ।

मोदी की यारी
वडनगर में मोदी परिवार ऐसे क्षेत्र में रहा करता था, जो मुस्लिम समुदाय के काफी करीब था। मुसलमानों के करीब होना सामान्य बात थी और उनके बचपन में अधिकांश मुसलमान थे। कहा जाता है कि उनके सबसे खास दोस्तों में से एक का नाम जसूद खान पठान था। वह हिंदू के साथ-साथ मुस्लिम त्यौहार भी मनाते थे। इस बात में उन्हें कुछ भी असामान्य नहीं लगता था। मोदी को 'ND' निकनेम दिया गया था।

मोदी परिवार का घर और चाय का काम
8 सदस्यों वाला मोदी परिवार आधुनिक मानकों के हिसाब से गरीब था। हालांकि, उस दौरान या अपने समुदाय के बीच उन्होंने कभी भी किसी चीज की कमी महसूस नहीं की। इसी बीच चाय के कारोबार उन्हें दिहाड़ी मजदूर के काम से आगे ले गया। पूरा मोदी परिवार मिट्टी-ईंटों के एक मंजिला घर में रहा करता था। करीब 40 बाई 12 फीट के इस घर में एक बेडरूम और बैठक शामिल थी। फर्श मिट्टी की थी और दीवारों पर कोई खिड़की नहीं थी।

 

Related Articles

Back to top button