झारखंडः जमशेदपुर स्थित टाटा स्टील प्लांट में धमाके के बाद लगी भीषण आग

जमशेदपुर
झारखंड के जमशेदपुर स्थित टाटा स्टील प्लांट में जोरदार धमाके के साथ शनिवार को भीषण आग लग गई। आग लगने के बाद प्लांट में अफरा-तफरी मच गई। धमाके के साथ गैस रिसाव की भी सूचना मिली। लेकिन कंपनी के कॉरपोरेट कम्युनिकेशन ने प्रेस रिलीज जारी गैस रिसाव की खबर से इनकार किया।

प्रेस रलीज में बताया गया है कि सुबह करीब 10:20 बजे जमशेदपुर वर्क्स स्थित कोक प्लांट के बैटरी 6 में फाउल गैस लाइन में धमाका हुआ इसमें दो लोग घायल हो गए। घायलों में टीएन कंस्ट्रक्शन में ठेका मजदूर के तौर पर काम कर रहे नरसिंह मुर्मु,39 साल को  ज्यादा चोट लगी। उसके पैर पर एक लोहे का टुकड़ा गिर गया। घायल का इलाज टाटा मेन हॉस्टपीटल में कराया जा रहा है। इसके साथ ही अन्य कर्मी को सीने में दर्द की शिकायत है। उसे टीएमएच में भेजा गया है।

टाटा की ओर से बताया गया है कि घायलों को अस्पताल भेजा गया। वहीं एम्बुलेंस की मदद से आग पर काबू पा लिया गया है। टाटा स्टील के साथ-साथ सरकार की ओर से भी जांच किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन घायलों के इलाज और दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कहा है। कंपनी के इंजीनियरिंग सर्विसेज से जुड़े हरिप्रसाद ने बताया कि अचानक जोरदार आवाज हुई और आवाज के बाद सीने में दर्द होने लगा। घटना के समय मेसर्स एसजीबी कंपनी के कर्मी साहित्य कुमार भी वहां काम कर रहे थे। उन्होंने भी जोरदार आवाज की पुष्टि की।

ब्लास्ट के कुछ देर बाद उसी हिस्से में आग लग गई। कंपनी की सेफ्टी टीम तुरंत मौके पर पहुंची और दमकल की मदद से काफी मशक्कत के बाद पर आग पर काबू पाया गया। घटना के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर घायलों का इलाज कराने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा कि जिला प्रशासन और टाटा टाटा मैनेजमेंट मिलकर घायलों का इलाज का प्रबंध करें और किस वजह से क्या हादसा हुआ उसकी जांच कराई जाए।

Related Articles

Back to top button