झारखंड की कानून व्यवस्था योगी मॉडल से संभलेगी, हिन्दु महासम्मेलन में कपिल मिश्रा ने हेमंत सरकार पर लगाए ये आरोप

जमशेदपुर
राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए योगी मॉडल अपनाना चाहिए। यह कहना है दिल्ली के पूर्व मंत्री सह भाजपा नेता कपिल मिश्रा का।  झारखंड में कानून व्यवस्था बनी रहे, यह जिम्मेदारी राज्य सरकार की है। राज्य के कई जिलों में पत्थरबाजी की घटनाएं हो रही हैं, ऐसी घटना को अंजाम देनेवालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। इससे अपराध रुकेंगे। वे रविवार को बिष्टूपुर स्थित माइकल जॉन सभागार में हिंदू युवा वाहिनी के हिंदू महासम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि धर्म निरपरेक्षता में इतनी फोर्स नहीं देखी, जितनी यहां लगा रखी है। खतरे में कौन है? मुझे तो सरकार ही असुरक्षित दिख रही है। रूपेश पांडेय के हत्यारों को सजा नहीं मिली। मां सरस्वती की साधना करने के लिए निकला था, उसे घेरकर मारा गया। राज्य सरकार की जिम्मेदारी थी परिवार को न्याय दिलाना व अपराधियों को सजा देना। रांची हवाई अड्डे पर मुझे रोका गया। किसी के घर पर मातम मनाने के लिए नहीं जाना देना शर्मनाक है।

कपिल मिश्रा झारखंड सरकार पर भी जमकर बरसे। हिंदू युवा वाहिनी के हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की नीयत अपराधियों को रोकना नहीं है, बल्कि अपराध के बारे में चर्चा रोकना है।  भाजपा नेता ने कहा कि लोगों की जुबान पर इतनी रोक तो लोहरदगा में लगानी चाहिए, सरकार ने लोहरदगा में क्यों नहीं लगाई। वहां से स्लीपर सेल निकल रहे हैं। सरकार तुष्टिकरण की राजनीति पर चल रही है। देश के सभी राज्य सरकारों को पत्थर उठानेवालों के खिलाफ कानून व्यवस्था दुरुस्त करनी होगी। जिसके हाथ में पत्थर उठे, वह अपने घर की ईंट गिनने की तैयारी कर ले। इस मौके पर भाजपा के पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि कपिल मिश्रा के नाम से कुछलोगों को परेशानी हो रही है। कुछ लोगों को यदि डर लग रहा है तो यह डर अच्छा है। सभी धर्म के अनुयायी चाहते हैं कि उनके धर्म का प्रचार हो, बेहतर है। दूसरे की खिलाफत करना कोई धर्म नहीं सिखाता।

Related Articles

Back to top button