लाउडस्पीकर विवाद: लाउडस्पीकर पर हाथ लगाया तो PFI सबसे पहले खड़ी नजर आएगी

मुंबई
महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे के लाउडस्पीकर वाले बयान के बाद PFI (इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) ने भी चेतावनी दे डाली. मुंबई से सटे ठाणे ग्रामीण के मुस्लिम बहुल इलाके मुम्ब्रा में जुमे की नमाज के बाद संगठन के मुम्ब्रा अध्यक्ष मतीन शेखानी ने कहा कि हमें छेड़ोगे तो हम भी छोड़ेंगे नहीं. उन्होंने आगे कहा कि लाउडस्पीकर पर हाथ लगाया तो PFI सबसे पहले खड़ी नजर आएगी.

'देश में मुस्लिमों पर हो रहा जुल्म'
मुम्ब्रा अध्यक्ष ने मध्यप्रदेश और राजस्थान समेत अन्य राज्यों में रामनवमी के जुलूस के दौरान हुए हिंसा को लेकर भी विरोध जताया. उन्होंने कहा कि देश में मुस्लिमों पर जुल्म हो रहा है. कुछ लोग मुम्ब्रा का भी माहौल खराब करना चाहते हैं. साथ ही कहा हमारा नारा है छेड़ोगे तो छोड़ेंगे नहीं. वहीं महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर पर अजान को लेकर भी कहा कि एक भी लाउडस्पीकर को हाथ लगाया तो PFI सबसे आगे नजर आएगी.

मतीन शेखानी के खिलाफ केस दर्ज
मुंब्रा पुलिस ने अब्दुल मतीन शेखानी के खिलाफ बिना अनुमति सभा करने और कथित रूप से वहां भड़काऊ भाषण देने के मामले में केस दर्ज कर लिया है. उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 188 और महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम की धारा 37 (3) और 135 के तहत केस दर्ज किया गया है.

MNS प्रमुख के इस बयान पर भड़का PFI
महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के प्रमुख राज ठाकरे ने 12 अप्रैल को ठाणे में आयोजित रैली में राज्य सरकार से 3 मई तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए कहा था. उन्होंने यह भी कहा था कि अगर लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए, तो पार्टी कार्यकर्ता मस्जिदों के सामने लाउडस्पीकर से हनुमान चालीसा बजाना शुरू कर देंगे.

PFI ने देश भर में किया प्रदर्शन
विवादित इस्लामिक संगठन पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) ने शुक्रवार को देश भर में विरोध प्रदर्शन किया. दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में भी PFI से जुड़े लोगों प्रदर्शन किया. एहतियात के तौर पर प्रदर्शन स्थल पर पुलिस तैनात हो गई थी. पुलिस सूत्रों के मुताबिक 3 प्रदर्शनकारियों को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया हालांकि पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया. मामलू हो कि शाहीनबाग इलाके में PFI का दिल्ली का हेड ऑफिस है, जहां यूपी एसटीएफ ने रेड की थी.

Related Articles

Back to top button