महाराष्ट्र सरकार अब ऑफलाइन दिवाली फूड पैकेट बांट रही, ऑनलाइन से नहीं बनी बात; इन्हें मिल रहा लाभ

मुंबई
महाराष्ट्र सरकार ने लाभार्थियों को अब ऑफलाइन दिवाली फूड पैकेट बांटने का फैसला किया है क्योंकि तकनीकी समस्याओं के कारण ऑनलाइन प्रक्रिया में देरी हो रही थी। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रवींद्र चव्हाण की विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद यह फैसला लिया गया। चव्हाण ने कहा, "रविवार को, हमने राशन कार्ड धारकों को दिवाली फूड पैकेट का ऑफलाइन वितरण शुरू करने का फैसला किया।" उन्होंने कहा कि वितरण को तेजी से ट्रैक करने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, चव्हाण ने कहा, “दिवाली फूड पैकेट वितरण प्रक्रिया इंटरनेट से जुड़ी पॉइंट-ऑफ-सेल (पीओएस) मशीनों का इस्तेमाल करके ऑनलाइन के माध्यम से होनी थी। हालांकि, यह नोट किया गया कि ऑनलाइन प्रक्रिया ने वितरण को धीमा कर दिया। इसलिए ऑफलाइन वितरण शुरू करने के निर्देश जारी किए गए हैं।" खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों ने कहा, “ऑनलाइन प्रक्रिया वितरण में देरी कर रही थी। नतीजतन, सरकार ने पात्र लाभार्थियों को दिवाली फूड पैक का वितरण ऑफलाइन शुरू करने का फैसला किया।

इस महीने की शुरुआत में, सरकार ने 1.62 करोड़ राशन कार्ड धारकों को दिवाली स्पेशल पैक के वितरण को मंजूरी दी थी, ताकि लोग काफी सस्ती दर पर मिठाई तैयार करने करें। इस योजना के तहत, लाभार्थी विशेष रूप से दिवाली के लिए तैयार किए गए अत्यधिक सब्सिडी वाले फूड पैक के हकदार हैं। एक व्यक्तिगत राशन कार्ड धारक 100 रुपये में एक किलोग्राम चीनी, सूजी, चना दाल और एक लीटर खाद्य ताड़ के तेल के लिए पात्र है। वितरण 20 अक्टूबर तक पूरा किया जाना था लेकिन विभाग लक्ष्य को पूरा करने में विफल रहा।

Related Articles

Back to top button