मोहाली MMS कांड: तीनों आरोपी 7 दिनों की रिमांड पर

चंडीगढ़

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाने के मामले में गिरफ्तार युवती एवं हिमाचल के दोनों युवकों को कोर्ट ने 7 दिनों के पुलिस रिमांड में भेजा दिया है। अब तक हुई जांच में पता चला है कि लड़की को ब्लैकमेल करके वीडियो बनवाए जा रहे थे। पुलिस ने ये भी माना दो लड़कियों के वीडियो मिले है। आशंका है कि फोन की छानबीन करने पर कई और वीडियो मिल सकते हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने इस मामले की जांच के लिए 3 सदस्य एसआईटी का गठन किया है। एसएसआईटी में तीनों महिला पुलिस अधिकारी शामिल होंगी। सीनियर आईपीएस ऑफिसर गुरप्रीत कौर को एसआईटी का प्रमुख बनाया गया है।

यूनिवर्सिटी ने लिया एक्शन

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी प्रशासन ने हॉस्टल में तैनात दोनों वार्डन को सस्पेंड कर दिया गया है। हॉस्टल एलसी 3 में तैनात सुनीता पर आरोप है कि युवतियों ने वार्डन सुनीता को मामले की जांच करने के लिए कहा था, लेकिन इस पर सुनीता ने कोई एक्शन नहीं लिया। वहीं वार्डन जसविंदर कौर पर आरोप है कि उन्होंने कार्रवाई में समय लगाया और आला अधिकारियों को इसकी सूचना नहीं दी।

छात्राओं को मिल रही है धमकियां

यूनिवर्सिटी MMS कांड के मामले में अब एक नया दावा किया जा रहा है। यूनिवर्सिटी कैंपस में कुछ छात्राओं ने दावा किया है कि उन्हें Canada के विदेशी नंबर +1 (204) 819-9002 से धमकी भरे फोन आ रहे हैं। इन दावों के बाद कैंपस में छात्राओं में दहशत का माहौल है। वहीं छात्राएं अपने हॉस्टल के बाथरूम में भी जाने से डर रही है। इस बीच चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है। इस माहौल के बीच कई छात्राएं हॉस्टल छोड़कर जा चुकी है। उधर हंगामे की आशंका को देखते हुए यूनिवर्सिटी को एक हफ्ते के लिए बंद कर दिया गया है।

Related Articles

Back to top button