भारत से मानसून की विदाई हुई शुरू

मुंबई

 दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून की देश से विदाई शुरू हो चुकी है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने एक बयान में कहा कि मॉनसून की रवानगी की शुरुआत आज (20 सितंबर) से हो चुकी है और दक्षिण-पश्चिम राजस्थान के कुछ हिस्सों से और उससे लगे कच्छ क्षेत्र से विदा हो चुका है. आगे भी मॉनसून की वापसी के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं।

देश से मानसून की विदाई शुरू
उत्तर पश्चिमी भारत से दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून आमतौर पर 17 सितंबर से विदा लेना शुरु करता है। आईएमडी के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल 28 सितंबर, 2019 में नौ अक्टूबर, 2018 में 29 सितंबर, 2017 में 27 सितंबर और 2016 में 15 सितंबर को मॉनसून की रवानगी शुरू हुई थी।

आईएमडी के अधिकारियों ने कहा कि चूंकि महाराष्ट्र में विभिन्न मौसम प्रणालियों के सक्रिय रहने की संभावना है, इसलिए यहाँ दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी सितंबर के अंत में होने की संभावना है।

आईएमडी (पुणे) में मौसम पूर्वानुमान विभाग के प्रमुख अनुपम कश्यपी (Anupam Kashyapi) ने कहा कि सितंबर के अंत तक बारिश की गतिविधि जारी रहने की संभावना है। कई प्रणालियाँ हैं जो इस महीने के अंत तक महाराष्ट्र में बारिश जारी रखेंगी।

गौरतलब हो कि बीते साल भी देश के अधिकतर हिस्सों में दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून देरी तक रहा था और 25 अक्टूबर 2021 को देश से रवानगी हुई। आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार, 2010 और 2021 के बीच मॉनसून 25 अक्टूबर को या उसके बाद पांच बार- 2017, 2010, 2016, 2020 और 2021 में देश से गया है।
उल्लेखनीय है कि इस साल देश में जून से सितंबर तक चार महीने के दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून के दौरान अच्छी बारिश हुई। यह लगातार चौथा साल था, जब देश के अधिकांश इलाकों में सामान्य या सामान्य से ज्यादा वर्षा दर्ज की गई है।

Related Articles

Back to top button