National News : देश की राजधनी हुई शर्मसार, 13 साल के बच्चे संग एक सप्ताह तक 5 हुआ कुकर्म

National News : 8वीं कक्षा के छात्र के साथ एक सरकारी स्कूल में सामूहिक कुकर्म का मामला सामने आया है। विरोध करने पर आरोपियों ने उसे पीटा और किसी को कुछ भी बताने पर

Latest National News : उज्जवल प्रदेश, नईदिल्ली. आउटर-नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के शाहबाद डेरी थाना इलाके में 8वीं कक्षा के छात्र के साथ एक सरकारी स्कूल में सामूहिक कुकर्म का मामला सामने आया है। विरोध करने पर आरोपियों ने उसे पीटा और किसी को कुछ भी बताने पर छात्र को जान से मारने की धमकी दी। आरोपी लगातार एक हफ्ते तक उसके साथ स्कूल में कुकर्म करते रहे। कुछ दिनों से आरोपी फिर से छात्र को परेशान करने लगे तो उसने परिजनों को इसकी जानकारी दी। परिजनों ने तुरंत मामले की सूचना पुलिस को दी। काउंसलिंग कराने के बाद छात्र की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

पुलिस के मुताबिक, 13 साल का पीड़ित रोहिणी इलाके में परिवार के साथ रहता है। परिवार में पिता के अलावा अन्य सदस्य है। वह इलाके के एक सरकारी स्कूल में पढ़ता है और कक्षा 8वीं का छात्र है। उसने पुलिस को बताया कि अप्रैल महीने में उसके स्कूल में समर कैंप लगा गया था। कैंप सुबह 11.00 बजे से लेकर शाम 4.00 बजे तक चलता ‌था। समर कैंप में उसके कक्षा के छात्रों के अलावा स्कूल के और भी छात्र आते थे।

इसी दौरान उसके पास 5 छात्र आए और उसके गलत काम करने के लिए कहने लगे। उसने मना किया तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की। इसके बाद वह उसे जबरन स्कूल में पार्क में लेकर गए, जहां उन्होंने उसके साथ बारी-बारी से कुकर्म किया। पार्क मे कोई आता-जाता नहीं था। इसके बाद उसे डरा धमकाकर अपने साथ लगातार सात दिनों तक पार्क में गए और उसके साथ कुकर्म करते रहे। डर की वजह से छात्र ने किसी को कुछ नहीं बताया और गुमसुम रहने लगा।

पीड़ित ने शिक्षक को दी जानकारी, नहीं लिया एक्शन

पीड़ित के अनुसार, उसने वारदात के बारे में स्कूल में अपने स्कूल की एक महिला शिक्षक व एक पुरुष शिक्षक को वारदात के बारे में जानकारी दी। इस पर शिक्षकों ने उससे पूछा कि उसने घटना के बारे में अपने परिजनों को तो नहीं बताया है। छात्र ने मना कर दिया। एक्शन लेने की वजह शिक्षक ने किसी को कुछ भी बताने से मना कर दिया। लगातार आरोपियों की हैवानियत बढ़ती जा रही थी। इसी से परेशान होकर छात्र ने परिजनों को इसकी जानकारी दी।

Related Articles

Back to top button