National News: कर्नाटक में IAS vs IPS सोशल मीडिया पर शेयर किये IAS रोहिणी के ‘निजी फोटो’, मचा बवाल

National News: कर्नाटक में दो महिला अफसरों के बीच जारी लड़ाई के कारण घमासान मचा हुआ है. यहां IPS OFFICER डी रूपा ने IAS OFFICER रोहिणी सिंधुरी पर आरोप लगाया है कि वह अपनी निजी तस्वीरें पुरुष अफसरों के साथ शेयर कर रही हैं. इस पर सिंधुरी की तरफ से भी जवाब दिया गया है.

National News: उज्जवल प्रदेश,बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) के नौकरशाही हलकों में रविवार को एक बड़ा भूचाल आया, जब आईपीएस अधिकारी डी रूपा मौदगिल (D. Roopa Moudgil) और आईएएस अधिकारी रोहिणी सिंधुरी (Rohini Sindhuri) का टकराव खुलकर लोगों के सामने आ गया. आईपीएस अधिकारी डी रूपा मौदगिल ने आईएएस अधिकारी रोहिणी सिंधुरी पर कई तरह के करप्शन के आरोप लगाने के एक दिन बाद ही उनकी कुछ निजी तस्वीरें भी शेयर की.

रूपा मौदगिल ने दावा किया कि इन तस्वारों को रोहिणी सिंधुरी ने तीन पुरुष आईएएस अधिकारियों को भेजा था. रूपा ने शनिवार को सिंधुरी पर गड़बड़ियों के 19 आरोप लगाए थे.

खबर के मुताबिक IAS रोहिणी सिंधुरी ने रविवार को एक मीडिया बयान जारी किया. जिसमें कहा गया कि रूपा उनके खिलाफ एक ‘झूठा, निजी निंदा का अभियान’ चला रही हैं, जो कि ‘उनका काम करने का असली तरीका है.’ बयान में सिंधुरी ने कहा कि ‘मैं भारतीय दंड संहिता (IPC) की धाराओं के तहत कदाचार और अपराधों के उसके कामों के लिए उपयुक्त अधिकारियों के साथ कानूनी और अन्य कार्रवाई करूंगी.’

सिंदूरी ने कहा कि ‘उसने मुझे बदनाम करने के लिए सोशल मीडिया से तस्वीरें और मेरे व्हाट्सएप स्टेटस के स्क्रीनशॉट जुटाए. जैसा कि उसने आरोप लगाया है कि मैंने कुछ अफसरों को ये तस्वीरें भेजीं, मैं उनसे उनके नाम सार्वजनिक करने का आग्रह करती हूं.’

कौन हैं आईएएस रोहिणी सिंधुरी?

IAS OFFICER रोहिणी सिंधुरी कर्नाटक कैडर, 2009 बैच की आईएएस अधिकारी हैं. वह मूल रूप से आंध्र प्रदेश की रहने वाली हैं. वह अभी तक कई पदों पर काम कर चुकी हैं. इस वक्त वह हिंदू धार्मिक संस्थानों और धर्मार्थ बंदोबस्ती विभाग के आयुक्त के तौर पर काम कर रही हैं. वहीं डी रूपा की बात करें, तो वह कर्नाटक हस्तशिल्प विकास निगम में एमडी के रूप में काम कर रही हैं.

आईएएस रोहिणी सिंधुरी ने क्या जवाब दिया?

सिंधुरी ने इसके बाद बयान में कहा कि वह कानूनी कार्रवाई करेंगी. सिंधुरी ने कहा, ‘उन्होंने मुझे बदनाम करने के लिए सोशल मीडिया और व्हाट्सएप स्टेट्स से मेरी तस्वीरों के स्क्रीनशॉट एकत्रित किए हैं. जैसा कि उन्होंने आरोप लगाया है कि मैंने ये तस्वीरें कुछ अधिकारियों को भेजी हैं, मैं उनसे उनके नामों का खुलासा करने का आग्रह करती हूं.’ IPS OFFICER ROOPA ने प्रशासन से आग्रह किया कि सिंधुरी पर सहानुभूति न दिखाएं और उनके खिलाफ लगने वाले आरोपों की जांच करें. रूपा ने कहा कि वह इस मामले को जनता के ध्यान में लेकर आई हैं.

क्या क्या आरोप लगे हैं?

डी रूपा ने सिंधुरी के खिलाफ 19 आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि उन्होंने तीन आईएएस अधिकारियों को कुछ तस्वीरें शेयर की हैं, संपत्ति के कारोबार में उनके परिवार के सदस्यों की मदद करने के लिए जमीन के कुछ भूखंडों के सर्वेक्षण, निपटान और रिकॉर्ड विभाग से विवरण मांगने के लिए उनके अधिकार का दुरुपयोग हुआ है, बढ़े हुए बिलों के रीम्बर्समेंट्स के लिए उनके खिलाफ लोकायुक्त शिकायत है, आईएएस अधिकारी डी के रवि की आत्महत्या में उनकी भूमिका है और वह राजनेताओं से मुलाकात कर रही हैं.

रूपा ने यह भी कहा कि मैंने ये पहली बार सुना कि कोई आईएसएस अधिकारी ड्यूटी के दौरान किसी विधायक या राजनीतिक व्यक्ति के साथ बैठक कर रही है. उन्होंने सिंधुरी पर कोरोना वायरस महामारी के वक्त घर पर स्वीमिंग पूल बनवाने को लेकर भी आरोप लगाए.

बहरहाल इसके बारे में पूछे जाने पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) ने इस मुद्दे को निजी प्रकृति का बताया था. गौरतलब है कि रविवार को IPS रूपा ने अपने फेसबुक पेज पर सिंधुरी की सात तस्वीरें शेयर करते हुए आरोप लगाया कि सिंधुरी ने उन्हें कथित तौर पर 2021 और 2022 में 3 आईएएस अधिकारियों के साथ शेयर किया.

उन्होंने कहा कि ‘ऑल इंडिया सर्विस कंडक्ट रूल्स के मुताबिक ऐसी तस्वीरें शेयर करना और इस तरह की बातचीत करना अपराध है.’ रविवार को पत्रकारों से बात करते हुए रूपा ने अधिकारियों से सिंधुरी के खिलाफ सभी आरोपों की जांच करने का आग्रह किया. IPS रूपा ने कहा कि मैंने केवल उनको जनता के सामने रखा है.

Related Articles

Back to top button