‘मातोश्री’ नहीं जाएंगी नवनीत राणा,थाने ले गई पुलिस

मुंबई

मुंबई। महाराष्ट्र के अमरावती से सांसद नवनीत राणा (MP Navneet Rana) ने हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए सीएम उद्धव ठाकरे के घर 'मातोश्री' जाने का कार्यक्रम रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि मेरा मकसद पूरा हुआ। इसके साथ ही उन्होंने शिवसेना को गुडों की पार्टी कहा।

नवनीत राणा के घर पहुंची मुंबई पुलिस
शिवसेना नेता वरुण सरदेसाई ने नवनीत राणा और रवि राणा के खिलाफ केस दर्ज कराया है। उन्होंने दोनों पर भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है। इसके बाद मुंबई पुलिस खार स्थित नवनीत राणा के घर पहुंची। बड़ी संख्या में पुलिस के जवान नवनीत के घर पहुंचे। पुलिस नवनीत राणा को अपने साथ खार पुलिस स्टेशन ले गई। इसके बाद खुशी में शिव सैनिकों ने नवनीत राणा के घर के बाहर आतिशबाजी कर जश्न मनाया। नवनीत राणा ने कहा कि मैं सांसद हूं और मेरे पति विधायक हैं। पुलिस हमें जबरन थाने लेकर आई है। नवनीत राणा ने देवेंद्र फडणवीस से मदद मांगी है।

मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का किया था ऐलान
मुंबई में शनिवार को दिनभर नवनीत राणा द्वारा मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का मामला सुर्खियों में रहा। नवनीत और उनके विधायक पति रवि राणा ने शनिवार को मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था। उन्हें रोकने के लिए सुबह से ही शिवसैनिक मुंबई में उनके घर के बाहर जुटे थे। मामला महिला सांसद का था, इसलिए बड़ी संख्या में शिवसेना की महिला कार्यकर्ताओं को नवनीत के घर के बाहर बुलाया गया था। बड़ी संख्या में पुलिस के जवान भी मौके पर तैनात थे।

चिलचिलाती धूप और तेज गर्मी के बाद भी शिवसेना के कार्यकर्ता सुबह से दोपहर बाद तक नवनीत राणा के घर के बाहर जुटे रहे। इसके चलते वह बाहर नहीं निकल पाईं और हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए मातोश्री नहीं जा पाईं। उन्होंने घर के अंदर ही मीडिया से बात की और कहा कि शिव सेना के गुंडे उनके घर के बाहर जुटे हैं। एक सांसद को घर से निकलने से रोका जा रहा है। शिवसेना गुंडों की पार्टी बन गई है। असली शिव सैनिक तो बाला साहेब ठाकरे के साथ ही चले गए। सीएम उद्धव ठाकरे केवल लोगों के खिलाफ केस दर्ज करना और उन्हें सलाखों के पीछे डालना जानते हैं। वह महाराष्ट्र में बंगाल जैसी स्थिति पैदा कर रहे हैं।

नरेंद्र मोदी की यात्रा के चलते विरोध प्रदर्शन वापस लिया
विधायक रवि राणा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुंबई यात्रा का हवाला देते हुए अपना विरोध प्रदर्शन वापस ले लिया। पीएम मोदी रविवार शाम मुंबई में मास्टर दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार समारोह में शामिल होने वाले हैं, जहां उन्हें पहला लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार मिलेगा। रवि राणा ने कहा कि मेरी भी जिम्मेदारी है कि कानून और व्यवस्था नहीं बिगड़े। प्रधानमंत्री का दौरा रद्द नहीं किया जाना चाहिए, इसलिए आंदोलन वापस ले रहा हूं। मुख्यमंत्री ठाकरे कानून-व्यवस्था बिगाड़ रहे हैं। हम किसी दबाव में नहीं हैं। हम इस आंदोलन को अपने दम पर वापस ले रहे हैं। अगर आपके पास बालासाहेब के थोड़े भी विचार हैं तो आप निश्चित रूप से सही रास्ते पर आएंगे।

संजय राउत ने नवनीत राणा को कहा फर्जी हिंदुत्ववादी
शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से कुछ फर्जी हिंदुत्ववादियों (सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा) ने मुंबई में माहौल खराब करने की कोशिश की। अमरावती की बंटी और बबली हंगामा करने की कोशिश कर रहे हैं। सीएम आवास पर कुछ अलग करने की साजिश रची गई। बीजेपी ने उनके कंधों पर बंदूक रखकर हमला करने की कोशिश की। नवनीत और रवि राणा महाराष्ट्र के दुश्मन हैं। उनके पीछे पूर्व सीएम (देवेंद्र फडणवीस) हैं।

राणा दंपत्ति को राष्ट्रीय नेता बनाना चाहती है शिवसेना
भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राणा दंपत्ति ने कहा था कि वे जाकर हनुमान चालीसा का जाप करेंगे। अगर वे किसी कोने में जाते और ऐसा करते तो न तो खबर बनती और न ही इसका कोई असर होता। शिवसेना की ओर इशारा करते हुए फडणवीस ने कहा कि उन्होंने इतने लोगों को इकट्ठा किया जैसे कि वे सड़कों पर लोगों पर हमला करने आ रहे हैं।

फडणवीस ने कहा कि शिवसेना रवि राणा और नवनीत राणा को राष्ट्रीय नेता बनाना चाहती है। इसीलिए यह सब यहां हो रहा है। कानून-व्यवस्था की स्थिति दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है, लेकिन राज्य सरकार इन मुद्दों पर गौर करने की बजाय ऐसे बयान देने में लगी हुई है।

Related Articles

Back to top button