अब लोगों को मिलेगी गर्मी से राहत, तीन दिनों तक होगी खूब बारिश

नई दिल्ली
देश के उत्तर पश्चिमी राज्यों में रहने वाले लोगों को जल्द गर्मी से निजात मिलने वाली है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले तीन दिनों तक यहां हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। वहीं, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में अगले दो दिनों में हल्की बारिश होने का अनुमान है। इन हिस्सों में अधिकतम तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस की कमी आ सकती है। इसके बाद कोई उल्लेखनीय बदलाव होने की संभावना नहीं है।

इन राज्यों में ओलावृष्टि की संभावना
अगले तीन दिनों में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में अलग-अलग इलाकों में ओलावृष्टि भी हो सकती है।

पूर्वी राज्यों का हाल
भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि अगले पांच दिनों के लिए, बिहार, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल और ओडिशा में गरज के साथ हल्की / मध्यम वर्षा होने की संभावना है।

दिल्ली का हाल
बता दें कि दिल्ली में धूल भरी आंधी और बारिश का यह दौर 24 मई तक जारी रहेगा। यानी आने वाले दो दिन और दिल्ली का मौसम खुशनुमा बना रहेगा। मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ साइक्लोनिक सर्कुलेशन के तौर पर बनता नजर आ रहा है। इसी कारण दिल्ली-एनसीआर समेज सभी जगहों पर मौसम में बदलाव नजर आ रहा है।

केरल के 10 जिलों में भारी बारिश की संभावना
केरल में, कम से कम 10 जिलों में रविवार तक भारी बारिश होने की संभावना है, आईएमडी ने येलो अलर्ट जारी किया है, जबकि इडुक्की जिला प्रशासन ने अतिरिक्त पानी छोड़ने के लिए कल्लारकुट्टी और पंबला बांधों के शटर खोल दिए हैं। तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पठानमथिट्टा, अलाप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, मलप्पुरम और कोझीकोड जिले शनिवार को येलो अलर्ट पर थे, जबकि वायनाड में आज भी येलो अलर्ट है।

इन पांच राज्यों में बाढ़ जैसे हालात
देश के कुछ राज्य ऐसे हैं जहां बारिश के कारण बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। इन राज्यों में असम, कर्नाटक, केरल, मेघालय और मणिपुर शामिल हैं। इन राज्यों में भारी बारिश के कारण जगह-जगह जल जमाव हो गया है। लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो रहा है। केरल और कर्नाटक में अरब सागर की ओर से चलने वाली तेज चक्रवाती हवाओं के कारण मूसलाधार बारिश हो रही है।

असम में बाढ़ से आठ लाख से अधिक लोग प्रभावित
असम में बाढ़ से आठ लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 14 लोगों की मौत हो गई है। वहीं जमुनामुख जिले के दो गांवों के 500 से अधिक परिवारों को रेलवे पटरियों पर रहना पड़ रहा है। 1413 गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित जिला नौगांव है, जहां के 2.88 लाख लोग इस विभीषिका का सामना कर रहे हैं। वहीं, कछार में 1.2 लाख और होजाई में एक लाख सात हजार लोग प्रभावित हुए हैं।  राहत और बचाव कार्य में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल, सेना और असम राइफल्स के जवान जुटे हुए हैं।

अगले सप्ताह केरल पहुंच सकता है मानसून
आईएमडी ने बताया कि दक्षिण-पश्चिमी मानसून के अगले सप्ताह की शुरुआत में केरल पहुंचने की उम्मीद है। विभाग के अनुसार अरुणाचल प्रदेश, असम-मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में अगले दो दिनों के दौरान हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

Related Articles

Back to top button