आज पहली बार कश्मीर जाएंगे PM मोदी, देंगे 20 हजार करोड़ की सौगात

 नई दिल्ली।
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को जम्मू-कश्मीर में 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। इसमें केंद्र शासित प्रदेश के दोनों क्षेत्रों के बीच हर बारहमासी संपर्क स्थापित करने के लिए बनिहाल-काजीगुंड सड़क सुरंग का उद्घाटन भी शामिल है। मोदी जम्मू-कश्मीर से अगस्त, 2019 में अनुच्छेद 370 एवं 35 ए निष्क्रिय होने के बाद पहली बार वहां की यात्रा पर जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में कहा कि मोदी राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में भाग लेने और देश भर की ग्राम सभाओं को संबोधित करने के लिए वहां जा रहे हैं। वह सांबा जिले की पल्ली पंचायत का भी दौरा करेंगे। पीएमओ के मुताबिक देश के हर जिले में 75 जलाशयों के विकास और पुनर्जीवन के प्रयास के तहत प्रधानमंत्री अमृत सरोवर नाम से एक नई पहल शुरू करेंगे। बयान में कहा गया है कि मोदी शाम को मुंबई में मास्टर दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार समारोह में शामिल होंगे, जहां उन्हें पहला लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार मिलेगा। यह पुरस्कार लता मंगेशकर की स्मृति में शुरू किया गया है और राष्ट्र निर्माण में अनुकरणीय योगदान देने के लिए हर साल एक व्यक्ति को दिया जाएगा।

मोदी के जम्मू-कश्मीर के दौरे पर बयान में पीएमओ ने कहा कि सरकार संवैधानिक सुधारों के बाद अभूतपूर्व गति से शासन में सुधार और क्षेत्र के लोगों के लिए जीवन की सुगमता बढ़ाने के लिए व्यापक सुधार करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। पीएमओ द्वारा संवैधानिक सुधारों का उल्लेख करना अगस्त, 2019 में अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त करने और तत्कालीन राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने की ओर परोक्ष इशारा है।
 
सुरंग पर 3100 करोड़ की लागत
मोदी 3,100 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनी बनिहाल-काजीगुंड सड़क सुरंग का उद्घाटन करेंगे। 8.45 किलोमीटर लंबी सुरंग बनिहाल और काजीगुंड के बीच सड़क की दूरी को 16 किलोमीटर कम कर देगी और यात्रा के समय को लगभग डेढ़ घंटे कम कर देगी। यह एक जुड़वां ट्यूब सुरंग है, जो दोनों ओर के यातायात के लिए है तथा रखरखाव एवं आपातकालीन निकासी के लिए प्रत्येक 500 मीटर पर दोनों ओर की सुरंग आपस में जोड़ी हुई हैं।

तीन रोड पैकेज का भी शिलान्यास
मोदी दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस-वे के तीन रोड पैकेज का भी शिलान्यास करेंगे, जिस पर करीब 7,500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत आएगी। अन्य परियोजनाओं के अलावा, मोदी रतले और क्वार जलविद्युत परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। रतले जलविद्युत परियोजना किश्तवाड़ में चिनाब नदी पर लगभग 5,300 करोड़ रुपये की लागत से 850 मेगावाट उत्पादन वाली इकाई है। साथ ही वह 540 मेगावाट की क्वार जलविद्युत परियोजना की आधारशिला भी रखेंगे, जो 4,500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से उसी नदी पर निर्मित होगी।

 

Related Articles

Back to top button