राज ठाकरे की पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील, ईद के दिन महा आरती ना करें

मुंबई
महाराष्ट्र में मस्जिद पर लाउडस्पीकर को लेकर पिछले कुछ समय से विवाद चल रहा है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के मुखिया राज ठाकरे ने प्रदेश सरकार को अल्टिमेटम दिया था कि अगर 3 मई तक तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए तो मस्जिदों के सामने अजान से दोगुनी आवाज में हनुमान चालीसा को बजाया जाएगा। लेकिन इस बीच राज ठाकरे ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा है कि 3 मई को पूर्व में प्रस्तावित महा आरती ना करें। दरअसल 3 मई को ईद है, लिहाजा राज ठाकरे ने कहा कि ईद के दिन महा आरती ना करें ,जिससे त्योहार के दिन किसी भी तरह का सामाजिक तनाव फैले।
 
राज ठाकरे ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वह 3 मई को ईद के मौके पर महा आरती ना करें, जिससे कि धार्मिक सौहार्द बना रहे। उन्होंने ट्वीट करके लिखा, कल ईद है, मैंने पहले ही इसके बारे में बोल चुका हूं, मुस्लिम समुदाय के इस त्योहार को खुशी के साथ मनाना चाहिए। हमने पहले जो फैसला लिया था, उससे इतर ईद के दिन महा आरती ना करें, लाउडस्पीकर का मुद्दा धार्मिक नहीं बल्कि सामाजिक है। मैं कल अपने अगले ट्वीट में आगे क्या किया जाए इसकी जानकारी दूंगा। अभी के लिए इतना ही।

राज ठाकरे का यह बयान ऐसे समय में आया है जब रविवार को राज ठाकरे ने औरंगाबाद में विशाल रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि अगर 3 मई तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर को नहीं हटाया जाता है तो वह इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि उस मस्जिद के सामने दोगुनी आवाज में लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। राज ठाकरे ने कहा कि ईद 3 मई को है, मैं त्योहार बर्बाद नहीं करना चाहता हूं, लेकिन 4 मई के बाद हम नहीं सुनेंगे। हम दोगुनी आवाज में हनुमान चालीसा बजाएंगे, अगर हमारी मांग को पूरा नहीं किया गया। अगर आपको हमारी अपील समझ नहीं आती है तो, हम अपने तरीके से इससे निपटेंगे। मैं 4 मई से शांत नहीं बैठूंगा। अगर तबतक लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए तो मैं आपको महाराष्ट्र की ताकत दिखाऊंगा।

 

Related Articles

Back to top button