Rajasthan Budget : किसानों को 3 हजार करोड़ का लोन, 2000 यूनिट तक की बिजली मुफ्त

Rajasthan Budget : राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने विधानसभा में बजट पेश करना शुरू कर दिया है।सीएम गहलोत ने राशन और रोजगार पर दो बड़े ऐलान किए है। सीएम गहलोत ने कहा कि इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की घोषणा करता हूं।

Rajasthan Budget : जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधानसभा सदन में अपने तीसरे कार्यकाल का आखरी बजट पेश कर रहे हैं. यहां अपने भाषण में कई अहम घोषणाएं की हैं. बता दें कि गहलोत द्वारा 6 मिनट तक पिछले साल का बजट पढ़ देने से सदन में हंगामा हो गया और कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित हो गई.राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने विधानसभा में बजट पेश करना शुरू कर दिया है।सीएम गहलोत ने राशन और रोजगार पर दो बड़े ऐलान किए है।

सीएम गहलोत ने कहा कि इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की घोषणा करता हूं। शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले परिवारों को भी उनकी मांग पर 100 दिन का रोजगार दिया जाएगा। इस पर 800 करोड़ रुपए खर्च होंगे। मनरेगा के तहत अब 125 दिवस रोजगार मिलेगा। इस पर 750 करोड़ रुपए खर्च होंगे। 1 करोड़ परिवारों को NFSA के तहत निशुल्क राशन देने की घोषणा करता हूं। सीएम गहलोत ने पानी पीकर की भाषण की शुरुआत की।

मुख्यमंत्री गहलोत का बजट भाषण, ‘प्रदेश को विकास के नए आयाम तक पहुंचाने का प्रयास, कोरोना काल में कुशल वित्तीय प्रबंधन किया। मुख्यमंत्री गहलोत का बजट भाषण, ‘हमारा सदैव प्रयास है कि सभी वर्गों के हितों का ध्यान रखा जाए’। बजट के हजारों सुझाव हमने लिए मुख्यमंत्री के बजट भाषण के दौरान विपक्ष ने हंगामा विपक्ष ने हंगामा किया। गहलोत ने कहा- “कर्म में अगर सच्चाई है, तो कर्म कहां निष्फल होगा। हर एक संकट का हल होगा, वो आज नहीं तो कल होगा”। विपक्ष के व्यवधान के कारण सदन का कार्यवाही फिलहाल स्थगित कर दी गई है।

अशोक गहलोत के बजट भाषण की अहम बातें

  • गहलोत ने बड़ी घोषणा करते हुए बताया कि प्रदेश में किसानों को 2000 यूनिट तक की बिजली मुफ्त दी जाएगी
  • प्रदेश में उज्जवला स्कीम का लाभ उठाने वालों को रिफलिंग पर केवल 500 रुपये में रसोई गैस सिलेंडर उपलब्ध होगा.
  • घरेलू उपभोक्ताओं को 100 यूनिट की बिजली फ्री दी जाएगी.
  • कोरोना काल में जिन बच्चों के माँ बाप मर गए हैं उन्हें 18 की उम्र में आने पर सरकारी नौकरी दी जाएगी.
  • दुर्घटना बीमा को 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दिया गया है.
  • प्रदेश के 15 स्थानों पर 20 करोड़ रुपये की लागत से नशा मुक्ति केन्द्र बनाए जाएंगे.
  • प्रतापगढ, राजसमन्द और जालोर में मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे.
  • पेपर लीक को लेकर स्पेशल टास्क फोर्स बनाया जाएगा जो इस तरह की चीजों की निगरानी करे.
  • महिलाओं के लिए रोडवेज बसों में किराए में छूट के 30 प्रतीशत से बढ़ाकर 50 प्रतिशत कर दिया गया है.
  • खाद्य सुरक्षा के तहत पात्र परिवारों को अन्नपूर्णा फ़ूड पैकेट मुफ्त में मिलेंगे. इसमें दाल, चीनी सहित राशन सामान होगा.
  • उन चरवाहों के लिए 50,000 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, जिन्होंने स्किम डिजीज के प्रकोप के कारण अपने मवेशियों को खो दिया.

गौरतलब है कि बजट भाषण के दौरान सीएम गहलोत ने विधानसभा में पुराना बजट पढ़ दिया. हालांकि मंत्री महेश जोशी ने उन्हें बीचे में ही रोक दिया. इसके चलते सदन में भारी हंगामा होने लगा. इसके बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई. विधानसभा में जब सीएम गहलोत बजट पढ़ रहे थे, तब विपक्षी नेता हंगामा करने लगे. इस दौरान अशोक गहलोत ने कहा कि थोड़ा सा सब्र रखें. इससे सभी को अच्छा लगेगा.

वहीं मंत्री महेश जोशी ने कहा कि सभी लोग आपको देख रहे हैं. ये गलत बात है. जानकारी के मुताबिक विधानसभा में विपक्ष जमकर हंगामा कर रहा है. बताया जा रहा है कि अशोक गहलोत जब बजट पढ़ रहे थे, तो इस दौरान उन्होंने पिछली तीन से चार योजनाओं को भी गिना दिया. इतना ही नहीं, इसमें शहरी विकास योजना जो कि पिछले साल लागू की गई थी. उसे भी सीएम ने गिना दिया. तभी जलदाय मंत्री महेश जोशी ने सीएम के कान में कहा. इसके बाद उन्होंने सॉरी कहा. लेकिन इसके बाद विपक्ष ने सदन में भारी हंगामा शुरू कर दिया.

कोरोना काल में 33 लाख लोगों को सहायता उपलब्ध कराई

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना काल में 33 लाख परिवारों को कराई थी सहायता उपलब्ध। स्पीकर सीपी जोशी, सीपी जोशी ने विपक्ष को तल्खी से चुप कराया। बता दें, गहलोत सरकार का यह आखिरी बजट होगा। सीएम गहलोत ने संकेत दिए है कि बजट में युवाओं और बेरोजगारों का खासा ध्यान रखा जाएगा।

सीएम गहलोत चुनाव साल में लोकलुभावन घोषणाएं कर सकते हैं। सीएम गहलोत ने ऐसे संकेत भी दिए है। माना जा रहा है कि सीएम गहलोत ने किसानों को फ्री बिजली देने का भी ऐलान कर सकते हैं। चुनावी साल होने की वजह से हर किसी नजर सीएम गहलोत के बजट पर है। राजस्थान में विधानसभा चुनाव 2023 के अंत में होने है। ऐसे में माना जा रहा है कि राजस्थान में होने वाले चुनाव को मद्देनजर ही सीएम घोषणा कर सकते है।

दो लाख संविदाकर्मियों के लिए बड़ी घोषणा

दो लाख संविदा कर्मचारियों के लिए सीएम गहलोत ने बड़ा एलान किया है. अब कॉन्ट्रैक्ट सर्विस रूल्स में पुराने अनुभव का लाभ मिलेगा. पहले का अनुभव गिना जाएगा.

Back to top button