पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों ने तोड़ दी आम आदमी की कमर, किचन का बजट भी गड़बड़ाया

नई दिल्ली
दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दामों ने आम आदमी की कमर तोड़कर रख दी है। पीएनजी गैस, रसोई गैस के दामों में बढ़ोतरी के बाद पेट्रोल-डीजल के दामों में काफी उछाल आया है। पिछले 13 दिन में पेट्रोल और डीजल करीब 8 रुपये लीटर तक महंगा हो चुका है। एनएचएआई ने भी टोल टैक्स में 10 से 15 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर दी है, जिसकी वजह से माल ढोने वाले वाहनों ने भी किराया बढ़ा दिया है। बढ़ी हुई महंगाई का असर अब घरेलू चीजों पर भी दिखना शुरु हो गया है और इसका सबसे ज्यादा असर किचन पर देखने को मिल रहा है। पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने और हाईवे पर सफर महंगा होने की वजह से बिहार और उत्तर प्रदेश में सब्जियों के दामों में भी काफी उछाल आया है। पटना के एक सब्जी विक्रेता नेएएनआई से बात करते हुए बताया कि, "हम सब्जी 5000 रुपये की लाते हैं और बिक्री 2000 रुपये की होती है, जिससे नुकसान बहुत हो रहा है। लोग पहले 1 कि. लो. सब्जी लेते थे अब 100-250 ग्राम ले रहे हैं।
 

वहीं, उत्तर प्रदेश में सब्ज़ियों के दामों में इजाफा हुआ हैं। प्रयागराज जिले में एक सब्ज़ी विक्रेता ने बताया, "15-20 दिन से सब्ज़ी के दाम में इतना उछाल है कि आम आदमी की थाली से सब्ज़ी गायब हो रही है। पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने की वजह से महंगाई बढ़ रही है और आम आदमी की कमर टूटे जा रही है।" कानपुर के एक सब्जी विक्रेता ने बताया कि पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने और हाईवे पर सफर महंगा होने की वजह से सब्जियों के दामों में भी बढ़ोतरी हुई है। सब्जी विक्रेता की मानें तो पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ने से सब्जियों के दामों में करीब 20 फीसदी तक बढ़ोतरी हुई।
 

तो वहीं, हाईवे पर सफर महंगा होने और डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी से माल ढोने वाले वाहनों ने भी मालभाड़ा (किराया) बढ़ा दिया है, जिसकी वजह से मंडियों में माल भी कम आ रहा है। सब्जी विक्रेता की मानें तो सब्जियों के दाम अभी ओर भी बढ़ सकते हैं। वहीं, महंगाई की वजह से बिक्री भी नहीं हो रही है। महंगी सब्जी से आम खरीददार परेशान हैं तो दुकानदारों का भी दम निकला हुआ है। सब्जियों और दाल जैसी रोजमर्रा की वस्तुएं लगातार महंगी होती जा रही हैं। कुछ दिनों पहले तक तोरी और लौकी जैसी सब्जियों का दाम 30 से 40 रुपए किलो हुआ करता था। आज उन्हीं सब्जियों के दाम 80 से 100 रूपए किलो हो गए हैं।
 

मालभाड़ा बढ़ने से सब्जियों के साथ-साथ दाल के दामों में भी 15 से 20 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। पहले जो अरहर की दाल 100 रुपए किलो थी, आज वह 120 रुपए किलो मिल रही है। ये हाल देश की राजधानी दिल्ली का है। बता दें कि देश में 22 मार्च के बाद से सिर्फ 2 दिन को छोड़कर लगातार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं। इन 12 दिनों के अंदर पेट्रोल के रेट 8 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ गए हैं। पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ सीएनजी और घरेलू गैस पीएनजी के भी दाम बढ़ रहे हैं। दिल्ली में सीएनजी 60.81 रुपए किलो के रेट से मिल रही है।

Related Articles

Back to top button