भारत रूस जो भी सामान खरीदना चाहता है, रूस उसकी आपूर्ति करने तैयार -मंत्री लावरोव

नई दिल्ली
 यूक्रेन से जारी युद्ध के चलते रूस पश्चिमी देशों से अलग-थलग पड़ा हुआ है। ऐसे में रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव भारत की यात्रा पर हैं। उन्होंने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता की। इस मौके पर रूस ने साफ कहा कि भारत उससे जो भी सामान खरीदना चाहता है, वो उसकी आपूर्ति करने तैयार है। बता दें कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा युद्ध  1 अपैल को इसे 37वें दिन में प्रवेश कर गया है। इसकी शुरुआत 24 फरवरी से हुई थी। इस मौके पर भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने कहा-कई क्षेत्रों में हमारे द्विपक्षीय संबंध लगातार बढ़ रहे हैं। हमारी बैठक महामारी के अलावा एक कठिन अंतरराष्ट्रीय वातावरण में हुई है। भारत हमेशा कूटनीति के जरिए विवादों को सुलझाने के पक्ष में रहा है।

 

यह युद्ध नहीं है, सैन्य ऑपरेशन है
सर्गेई लावरोव ने कहा-आपने(दुनिया) इसे(रूस-यूक्रेन संकट) युद्ध कहा जो सच नहीं है। यह एक स्पेशल ऑपरेशन है, सैन्य बुनियादी ढांचे को निशाना बनाया जा रहा है। इसका उद्देश्य कीव शासन को किसी भी ऐसे निर्माण से वंचित करना है, जो रूस के लिए खतरा है।

भारत जो माल चाहेगा, आपूर्ति होगी
सर्गेई ने कहा-हम भारत को किसी भी सामान की आपूर्ति करने के लिए तैयार रहेंगे जो वो हमसे खरीदना चाहते हैं। रूस और भारत के बीच बहुत अच्छे संबंध हैं। बातचीत में उन संबंधों की विशेषता है जो हमने कई दशकों तक भारत के साथ विकसित किए हैं। संबंधों में रणनीतिक साझेदारी हैं। यह वह आधार था जिस पर हम सभी क्षेत्रों में अपने सहयोग को बढ़ावा दे रहे हैं।

भारत की रणनीति को सराहा
सर्गेई ने कहा-भारत और रूस स्ट्रैटेजिक भागीदारी विकसित करते रहे हैं और यह हमारी प्राथमिकता रही है। हम निश्‍चित रूप से विश्‍व व्‍यवस्‍था में संतुलन बनाने में रुचि रखते हैं। हमने अपने द्विपक्षीय संदर्भ को बढ़ाया है। हमारे राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को शुभकामनाएं भेजी हैं।

Related Articles

Back to top button