बोले योग गुरु बाबा रामदेव-‘योग आध्यात्मिक है, धार्मिक नहीं’

हरिद्वार
पूरा विश्व आज International Yoga Day मना रहा है, इस खास मौके पर योग गुरु रामदेव ने हरिद्वार में स्थित पतंजलि योगपीठ में बच्चों और आम लोगों के साथ योग किया। बाबा रामदेव की योग कलाएं एक बार फिर से लोगों को हैरान कर गईं। इस मौके पर योग गुरु ने कहा कि 'योग आध्यात्मिक है, धार्मिक नहीं है। ये आत्मा से साक्षात्कार कराता है और सीधे तौर पर इंसान को शांति प्रदान करता है और इसी कारण आदियुग से हमारे ऋषि-मुनि योग का अभ्यास करते आए हैं।'

योग आध्यात्मिक है, धार्मिक नहीं: बाबा रामदेव
आपको बता दें कि आज के खास दिन भाजपा ने 75,000 स्थानों पर योग कार्यक्रम आयोजित किया है तो वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कर्नाटक के मैसूर पैलेस मैदान में सामूहिक योग कार्यक्रम में करीब 15 हजार लोगों के साथ योग किया और कहा कि 'हम कितने तनावपूर्ण माहौल में क्यों न हों, कुछ मिनट का ध्यान हमें शांत कर देता है,योग हमारी उत्पादकता को बढ़ा देता है।' उन्होंने देश की जनता से योग दिवस के कार्यक्रमों को सफल बनाने की अपील की है।

आज विश्वभर में योग को मान्यता मिल रही है
तो वहीं केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने इस खास मौके पर पीएम मोदी की तारीफ की और कहा कि 'प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व और प्रयासों के कारण आज विश्वभर में योग को मान्यता मिल रही है।'

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को क्यों मनाया जाता है
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है। यह दिन वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है और योग भी मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है इसलिए इस दिन को योग के लिए चुना गया। पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसकी पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी, जिसके बाद 21 जून को 'अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस' घोषित किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button