संजय राउत को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में नहीं मिली राहत

मुंबई

 मुंबई के पात्रा चॉल घोटाला (Patra Chal Scam) मामले में शिवसेना (Shiv Sena) सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) की जमानत अर्जी पर आज मुंबई की विशेष पीएमएलए कोर्ट (PMLA Court) में सुनवाई हुई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का आरोप है कि राउत इस मामले में मुख्य मास्टरमाइंड है। इस दौरान संजय राउत इस सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद रहे। कोर्ट ने संजय राउत की जमानत अर्जी पर सुनवाई 10 अक्टूबर तक के लिए टाल दी है।

शिवसेना सांसद संजय राउत को नहीं मिली राहत
शिवसेना सांसद संजय राउत की जमानत याचिका पर विशेष पीएमएलए कोर्ट (PMLA Court) ने सुनवाई की।  राउत के वकील ने जमानत पर अपनी दलीलें पूरी की, जबकि ईडी अगली तारीख पर बहस करेगी. 1,034 करोड़ के पात्रा चॉल घोटाला मामले में संजय राउत ईडी (ED) की कस्टडी में है।

सुनवाई के दौरान संजय राउत के वकील ने कोर्ट में अपनी जमानत की दलीलें पूरी कीं। जबकि ईडी ने बहस के लिए आगे की तारीख मांगी। जिसके बाद कोर्ट ने 10 अक्टूबर को सुनवाई की अगली तारीख दी है। कोर्ट ने तब तक के लिए सुनवाई स्थगित कर दी है। इसलिए संजय राउत इस साल दशहरा जेल में न्यायिक हिरासत में ही बिताएंगे।
ईडी ने संजय राउत के खिलाफ मुंबई के पात्रा चॉल के पुनर्विकास और उनकी पत्नी एवं अन्य सहयोगियों की संलिप्तता वाले लेन-देन में कथित अनियमितताओं को लेकर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है। ईडी ने आरोप लगाया था कि संजय राउत को घोटाले में प्रवीण राउत के जरिए एक करोड़ छह लाख रुपये मिले।

Related Articles

Back to top button