सुरक्षबलों ने बारामूला में 3 आतंकियों सहित लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर यूसूफ को मार गिराया

श्रीनगर। धारा 370 के बाद से जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी बौखलाए हुए हैं। वे आम नागरिकों को निशान बना रहे हैं। इसे देखते हुए सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर बढ़ा दिए हैं। जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ जारी लड़ाई में सुरक्षाबलों को एक बड़ी सफलता मिली है। सुरक्षाबलों ने बारामूला में हुए एक एनकाउंटर में तीन आतंकवादियों को मार गिराया। इसमें लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर यूसूफ कांतरु भी शामिल है। हालांकि इस एनकाउंटर के दौरान 3 जवान और एक आम नागरिक भी घायल हो गए।

बारामुला में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच गुरुवार तड़के मुठभेड़ हुई। इसमें तीन जवान और एक नागरिक घायल हो गया। इन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इस मुठभेड़ में मारा गया युसुफ कांतरु बीते माह बड़गाम में एक पुलिस एसपीओ और उसके भाई की हत्या में भी शामिल था।

बुधवार देर रात से जारी था एनकांउटर
उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के मालवा इलाके में स्थानीय पुलिस को कुछ आतंकवादियों के छुपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद बुधवार रात को सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्चिंग शुरू कर दी। अंधेरे का फायदा उठाते हुए आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग करना शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई की। कश्मीर के आइजी विजय कुमार के मुताबिक आगामी बाबा अमरनाथ यात्रा के मद्देनजर सर्चिंग बढ़ा दी गई है। आशंका है कि वे यात्रा में खलल डाल सकते हैं। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए बेहतर प्रबंध किए गए हैं। आईजी ने कहा कि कश्मीर में अब आतंकियों की संख्या बहुत कम बची है, ऐसे में वे बौखलाकर आम लोगों को निशाना बना सकते हैं।

पीएम मोदी भी आने वाले हैं कश्मीर
24 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कश्मीर के दौरे पर आने वाले हैं। इसे देखते हुए भी आतंकवादी हमलों में तेजी आई है। पीएम मोदी जम्मू के पास एक बड़ी रैली को संबोधित करेंगे। इसमें पंचायत राज दिवस को चिह्नित करने के लिए हजारों पंचायत सदस्य शामिल होंगे।

अमरनाथ यात्रा को लेकर भी सतर्कता
कोरोना संक्रमण के कारण पिछले 2 साल से बंद रही अमरनाथ यात्रा 2022 इस बार 30 जून से शुरू होगी और 11 अगस्त, 2022 को समाप्त होगी। 43 दिन की इस यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन चल रहे हैं। यात्रा पहलगाम और बालटाल दोनों मार्गों से होगी। रोज 10 हजार श्रद्धालुओं को यात्रा के लिए निकाला जाएगा। हेलिकॉप्टर से पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या अलग होगी। इस यात्रा को देखते हुए भी सुरक्षा इंतजाम बढ़ाए गए हैं।

Related Articles

Back to top button